7 तरीके अपनी खोयी हुई ऊर्जा को वापस पाने के

जुलाई 10, 2018
आइए अपनी सीमाओं को जानें जिससे ज़रूरत पड़ने पर कह सकें, अब बहुत हो गया।
ऐसे पल आते हैं जब आप थकावट की आख़िरी सीमा पर होते हैं। जहां आप “हमेशा थके-थके” रहने से भी थक जाते हैं। यहाँ पहुँचने के बाद आपको अपनी खोयी हुई ऊर्जा  को दोबारा हासिल करने की ज़रूरत होती है।
यह विश्वास करना मुश्किल है, लेकिन इस एहसास के साथ साधारण शारीरिक थकान के अलावा  भी बहुत कुछ जुड़ा हुआ है।
हम विशेष रूप से उस मानसिक स्तिथि की बात कर रहे हैं, जब लोग कमजोर महसूस करना शुरू कर देते हैं। शायद अपने लक्ष्यों तक न पहुंचने से मिली निराशा के कारण खोई हुई ऊर्जा को हासिल करने की ज़रूरत है।
शायद ही कुछ स्थितियां खुद से आज़िज आ जाने जितनी थकाऊ होती हैं, जो आपको दूसरों की मांगों को पूरा नहीं कर पाने या उन्हें संतुष्ट न कर पाने से होती है।
आज हम यहाँ आपको इस प्रकार की थकावट का कारण बताने जा रहे हैं और यह कि इसे कैसे दूर किया जाए।

1. आप अपनी बहुत ज्यादा उपेक्षा कर रहे हैं: अपने ऊपर ध्यान दीजिये

कई बार, हम यह भूल जाते हैं कि हमारा शरीर और दिमाग एक इंसान का है, न कि एक अनंत ऊर्जा वाले रोबोट का।
  • आपके शरीर को आराम की जरूरत है। दिन में कुछ घंटे आराम करने और हफ्ते में एक-दो दिन आराम करने का मतलब यह नहीं है कि आप काम कम कर रहे हैं या अपने दायित्वों की उपेक्षा कर रहे हैं।
  • दूसरों की अपेक्षाओं को पूरा करने पर फोकस करना, आपसे जो अपेक्षित है उससे ज्यादा करना, और दूसरों पर ही अपना पूरा ध्यान लगाना कभी न कभी आप पर असर जरूर डालेगा।
  • खुद को एकांत के लमहे देना, मनोरंजन और अपनी देखभाल के लिए समय निकालना स्वास्थ्य का पर्याय है।
इनके बारे में सोचें और खुद को उसका मज़ा लेने की अनुमति दें जिसकी आपको सबसे ज्यादा ज़रूरत है; अपने आपको सबसे ऊपर रखने की।
इसे भी पढ़ें:

 

2. जिस पर नियंत्रण हासिल कर सकते हैं, उस पर फोकस करना सीखें

अपनी ऊर्जा को हासिल करें
हम इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि हममें से ज्यादातर लोगों में उन चीजों के लिए ऑब्सेशन रहता है जो हमारे नियंत्रण से बाहर होती हैं।
  • उदाहरण के लिए, हम यह चाहते हैं, वह या यह व्यक्ति कुछ ख़ास बातों पर ध्यान दे।
  • हम अपने आस-पास घिरे लोगों से यह उम्मीद करते हैं कि वे ऐसा बर्ताव करें जैसी हम उनसे अपेक्षा करते हैं।
  • कई अवसरों पर, हम निम्नलिखित गलतियां भी करते हैं: बेवजह की बातों में वक्त और ऊर्जा खपाते हैं।

हम वह सबकुछ करते हैं जिससे हमारे दोस्त या भाई अपना दृष्टिकोण, अपनी मनोदशा या व्यवहार ठीक करलें और ज्यादा खुश रह सकें।

हालांकि, हमें यह समझना चाहिए कि अगर वे खुद कोशिश न करें, तो हम जो भी सलाह देंगे उन्हें सुनकर वे कुछ भी हासिल नहीं कर सकेंगे।

हमें विशेष रूप से ध्यान देना चाहिए कि हमारी पहुंच के दायरे में क्या है, हम किस पर नियंत्रण कर सकते हैं, और कहाँ हम स्पष्ट परिणाम देख सकते हैं।

वरना एकमात्र चीज जो हम हासिल करेंगे, वह है, असंभव लक्ष्यों के पीछे अपना इतना ढेर सारा वक्त और ऊर्जा खपाना।

3. अपनी उम्मीदों पर नियंत्रण करें

“अगर मैं ऐसा करून, तो यह हासिल कर लूंगा”। “जब” एक्स “या” वाई “व्यक्ति मेरे लिए यह काम करें, तो मैं जो कुछ चाहता हूं वह हकीकत बन जायेगी।” “अगर मैं इस उद्देश्य तक पहुंच गया, तो मेरी खुशियों की गारंटी पुख्ता हो जायेगी।”
  • हालांकि, यह सच है कि तय करना अच्छा होता है, और हम इसकी सिफारिश करते हैं: लेकिन वे बहुत सी उम्मीदें और उद्देश्य साधना जिनकी प्राप्ति हमारे ऊपर निर्भर नहीं है, अच्छा नहीं होता।
  • इनके साथ यही होगा कि हमारी इच्छा कभी पूरी ही नहीं हो।
  • बार-बार विफलता की भावना हमें थका देती है और नाउम्मीदी में छोड़ देती है।
इसलिए, आइए साधने योग लक्ष्यों को स्थापित करना सीखें, अपनी ऊर्जा प्राप्त करें, और अपनी वास्तविकताकताओं के साथ तालमेल बिठाना सीखें।

4. अपने मन को सुनें

अपनी ऊर्जा को कैसे हासिल करें

हमारे मस्तिष्क का प्राथमिक उद्देश्य हमारी रक्षा करना है।
  • अगर मैं हमेशा थका हुआ महसूस करता हूँ, तो इसका मतलब है कि मेरे भीतर एक शारीरिक या भावनात्मक असंतुलन है जिस पर मुझे ध्यान देना चाहिए।
  • हम यह नहीं भूल सकते कि दर्द और पीड़ा हमारे मस्तिष्क के भेजे हुए सिग्नल हैं ताकि हमें धीमा किया जा सके, और एहसास दिलाया जा सके कि कोई गड़बड़ी हो रही है।
जब आप अपने दिमाग और शरीर की नहीं सुनते हैं, तब थकान होगी। इसलिए अपने दिलो-दिमाग की बात सुनकर अपनी ऊर्जा वापस पाने में जुट जाइए।

5. अपने आप को गंभीरता से लें

आप एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने जीवन में बहुत कुछ हासिल किया है, एक ऐसा व्यक्ति जिसने एक से अधिक कठिन परिस्थितियों का सामना किया है।
आपके भीतर सराहनीय गुण और ताकत है जिन्होंने एक दिन आपको महान नतीजे दिए हैं। क्या आपने जो कुछ हासिल किया था, वह सब भूल गए हैं? शायद आपको गंभीरता से अपनी खोई हुई ऊर्जा को हासिल करने की जरूरत है।
  • अपने आप को गंभीरता से लें, खुद को महत्व दें, अपनी देखभाल करें।
  • यदि आप थक गए हैं, तो अपने आपको कुछ आराम दें।
  • अगर आप चिंतित हैं, तो अपने आप को थोड़ी राहत दें।
  • बोझ से दबा हुआ महसूस कर रहें हैं, अपने को कुछ शान्ति प्रदान करें।
  • यदि वे आपसे बहुत ज्यादा मांग करते हैं, तो कुछ लोगों से खुद को अलग कर लें।
  • जब आप भूल गए हों कि आप कितने मूल्यवान हैं, तो अपनी आत्मा, अपनी भावनाओं और आइडेंटिटी के साथ आमने-सामने की बातचीत के लिए एक मीटिंग तय करें।

6. ऐसी रणनीतियां हैं जो थका हुआ होने पर खोई हुई ऊर्जा पाने में आपकी मदद करेंगी

अपनी ऊर्जा को र्प्राप्त करने की रणनीतियां

  • ‘नहीं’ कहना सीखें तो आप कुछ अद्भुत खोज पायेंगे: दुनिया कहीं खत्म नहीं होती है।
  • उठें और टहलने के लिए जाएँ।
  • संगीत सुनें।
  • एक साल के भीतर खुद को कैसे देखना चाहते हैं, इस बार में साफ़ दृष्टि बनाएं। हर दिन उस विचार पर काम करना शुरू करें।
  • दूसरों से यह कहना कि “मैं किसी के लिए उपलब्ध नहीं हूं” अपराध नहीं है, यह आपके स्वास्थ्य का ख्याल रखता है।
  • अपनी थकावट के “क्यों” का पता लगाएं। जो असुविधा आप आज महसूस कर रहे हैं उसको कल पर न छोड़ें।
  • त्रुटियों के लिए खुद को क्षमा करें।
  • अपने आपको उन लोगों के आसपास रखें जो आपको मुस्कराहट देंगे।
  • नए लोगों को जानें।
  • आपकी शांति, ऊर्जा और अच्छे मूड को लूटने वाले लोगों के साथ समय बिताना बंद करें।
  • ऐसी किताबें पढ़ें जो नई वास्तविकताओं को प्रकट करेंगी, किताबें जो चीजों को बेहतर बनाने के लिए रणनीतियों की पेशकश करेंगी।
  • खुद को क्वालिटी से भरा “मी टाइम” दें।

7. इस पल को जियें

इस पल में रहने का मतलब है कि अपने शरीर की सुनना और हमेशा इसे जो चाहिए, उसे देना।
  • अगर आपको आराम की ज़रूरत है, और आप थके हुए हैं, तो अपनी जरूरतों का पालन करें और आराम करें। यह इतना आसान है।
  • आपकी अंतरात्मा आपको क्या कह रही है, इसके प्रति जागरूक रहना एक स्थिर मानसिक स्वास्थ्य रखने के लिए महत्वपूर्ण है। यह कुछ ऐसा है जो हमें रोज़ाना करने के लिए समय निकालना चाहिए।
अंत में, हमारी सलाह को प्रैक्टिस में लाने में बिलकुल भी संदेह न रखें। कभी-कभी, सबसे छोटे बदलाव सबसे बड़े परिणाम लाते हैं।