अनिद्रा के 4 नेचुरल ट्रीटमेंट

01 अगस्त, 2020
बात जब इनसोम्निया या अनिद्रा की हो तो ये नुस्ख़े आपकी बड़ी मदद कर सकते हैं। समस्या लंबे समय तक रहे, तो डॉक्टर से मिलकर यह निश्चित करें कि कुछ ज्यादा गंभीर मामला तो नहीं है।
 

इनसोम्निया या अनिद्रा सबसे आम नींद की गड़बड़ियों में से एक है जो बहुत से लोगों को परेशान करती है। हालांकि, आप नेचुरल इनसोम्निया ट्रीटमेंट से अपनी तमाम समस्याओं को ठीक कर सकते हैं।

शुरुआत में ही बता दें कि अनिद्रा या इनसोम्निया पर्याप्त नींद ले पाने में असमर्थता है, या कुछ मामलों में बिल्कुल भी नहीं।

अनिद्रा दो तरह की होती है:

  • नींद की शुरुआत: 30 मिनट के भीतर न सो पाने की समस्या।
  • जागरण: सोते रहने में परेशानी, रात को 30 मिनट से ज्यादा देर जगे रहना या पूरा ही जागरण जब व्यक्ति फिर से सो नहीं पाता।

इससे पहले कि हम अनिद्रा के नेचुरल ट्रीटमेंट की बात करें हमें कारणों पर ध्यान देना होगा। अनिद्रा के कई अलग-अलग कारण हैं। कुछ फैक्टर हैं:

  • तनाव
  • एंग्जायटी
  • आँखों की समस्या

इसलिए हम जानते हैं, अगर हेमन दिन में प्रोडक्टिव रहना है तो तो हमें पर्याप्त नींद लेनी होगी।

और अपने शरीर और दिमाग के अच्छे परफॉरमेंस करने के लिए आराम की भी जरूरत होती है।

इसके अतिरिक्त, एक्सपर्ट हर रात 7 से साढ़े सात घंटे की नींद लेने की सलाह देते हैं।

हालांकि, बहुत से लोग सिर्फ 4 घंटे ही सो पाते हैं। फिर भी दूसरे लोग ओवरबोर्ड जाते हैं और दिन में 10 घंटे सोते हैं।

अनिद्रा अस्थायी हो सकती है। यह कुछ दिनों से लेकर कई हफ्तों तक रह सकती है। पुराने मामलों में यह महीनों या वर्षों तक रह सकती है।

इसलिए अगर आप दवा से होने वाले सेड इफेक्ट से निपटना नहीं चाहते हैं, तो अनिद्रा के मामले में सबसे अच्छा नेचुरल ट्रीटमेंट यानी घरेलू इलाज ही आजमाना होगा। कुछ दूसरों की तुलना में ये ज्यादा तेज काम करते हैं, लेकिन वे सभी असरदार हैं।

आज हम आपको कुछ प्राकृतिक इन्स्मोनिया ट्रीटमेंट की एक छोटी सूची देंगे।

इसे भी आजमायें : 10 बेहतरीन खाद्य : अनिद्रा से मुक़ाबले के लिए

अनिद्रा के 4 नेचुरल ट्रीटमेंट

1. वैलेरियन चाय (Valerian tea)

अनिद्रा के लिए वैलेरियन चाय (Valerian tea)

यह एंग्जायटी, तनाव और अनिद्रा के लिए एक आदर्श नेचुरल ट्रीटमेंट है और इसे विभिन्न रूपों में लिया जा सकता है।

 

सामग्री

  • वेलेरियन की 3 से 6 बूंदें
  • 1 कप पानी (250 मिली)

तैयारी

  • यदि आप इसे गर्म करना चाहते हैं, तो बस एक बर्तन में एक कप पानी डालें और इसे गर्म करें, या बस माइक्रोवेव में रखें।
  • पानी में वेलेरियन की बूंदें डालें, अच्छी तरह से मिलाएं और पियें।
  • हम इसे बिस्तर से आधे घंटे पहले लेने की सलाह देते हैं।

2. अनिद्रा के इलाज के लिए दूध और शहद

अनिद्रा के इलाज के लिए दूध और शहद

क्या आपने कभी सुना है कि दूध अनिद्रा के लिए अच्छा है? खैर यह बस मिथ नहीं है; यह सच है!

यह आपको आराम करने और बहुत जल्दी सो जाने में मदद करेगा। शहद एक बेहतरीन नेचुरल स्वीटनर है।

सामग्री

  • 1 कप दूध (200 मिली)
  • 1 चम्मच शहद (7.5 ग्राम)

तैयारी

  • यदि आपके पास दूध है, तो एक कप बनाने के लिए इसमें से 2 या 3 बड़े चम्मच का उपयोग करें।
  • दूध तैयार होने के बाद इसे बेहतर स्वाद देने के लिए शहद मिलाएं।
  • बिस्तर पर जाने से 30 से 40 मिनट पहले गर्म करें और पियें।

इसे भी आजमायें : 5 चमत्कारिक ब्रीदिंग टेकनीक से अनिद्रा को अलविदा कहें

3. कैमोमाइल चाय (Chamomile tea)

लगभग सभी हर्ब में सुखदायक गुण होते हैं। कैमोमाइल विशेष रूप से कई कारणों से अद्भुत है। यह विशेष रूप से आपको सो जाने में मदद करेगा।

सामग्री

  • कैमोमाइल का 1 बड़ा चम्मच या 1 टी बैग (10 ग्राम)
 
  • 1 कप गर्म पानी (250 मिली)

तैयारी

  • यह बनाने में सबसे आसान चाय है।
  • आपको बस कैमोमाइल टी बैग को गर्म पानी में डालना है और छोड़ कर रखना है।
  • यदि आप ढीली पत्ती वाली चाय पसंद करते हैं, तो सेवन करने से पहले इसे मलें।
  • सोने से 20 मिनट पहले चाय पिएं।

इस पर भी एक नजर: यंगर लुकिंग स्किन के लिए फोर हर्बल टी

4. अनिद्रा के लिए लेट्यूस टी (Lettuce tea)

जैसा कि हमने ऊपर कहा, अनिद्रा कई कारणों से हो सकती है। लेट्यूस एंग्जायटी और स्ट्रेस के लिए एक उत्कृष्ट नुस्खा है और यह आपको जल्दी सोने में मदद करेगा।

यहां हम सलाद पत्ते के बीच वाले भाग का उपयोग करेंगे।

सामग्री

  • लेटिष का 1 हेड या 3 पत्ते
  • 1 कप पानी (250 मिली)

तैयारी

  • जितने लेटस आप डाल रहे हैं, उतनी मात्रा में ही पानी लें।
  • उबलते समय लेटस कोर या पत्तियों को मिलाएं और 5 मिनट के लिए छोड़ दें जबकि मिनरल और दूसरे तत्व निकाले जाते हैं।
  • इसके बाद छानें और थोड़ा ठंडा होने दें।
  • सोने से 20 से 30 मिनट पहले सेवन करें।
 
  • Sateia, M. J., & Nowell, P. D. (2004). Insomnia. In Lancet. http://doi.org/10.1016/S0140-6736(04)17480-1
  • Yang, C. M., & Spielman, A. J. (2014). Insomnia. In Encyclopedia of the Neurological Sciences. http://doi.org/10.1016/B978-0-12-385157-4.00555-8
  • Schutte-Rodin, S. L., Broch, L., Buysee, D., Dorsey, C., & Sateia, M. (2008). Clinical guideline for the evaluation and management of chronic insomnia in adults. Journal of Clinical Sleep Medicine. http://doi.org/10.5664/jcsm.6470
  • Murphy, K., Kubin, Z. J., Shepherd, J. N., & Ettinger, R. H. (2010). Valeriana officinalis root extracts have potent anxiolytic effects in laboratory rats. Phytomedicine. https://doi.org/10.1016/j.phymed.2009.10.020
  • Srivastava, J. K., Shankar, E., & Gupta, S. (2010). Chamomile: A herbal medicine of the past with a bright future (review). Molecular Medicine Reports. https://doi.org/10.3892/mmr.2010.377