7 सबसे आम गलतियां जो डाइटिंग में होती हैं

दिसम्बर 1, 2018
शायद आपको लगता होगा कि वजन कम करने वाली कोई भी डाइट आपके लिए फायदेमंद हो सकती है, लेकिन सच यह है कि आपको इसका सही चुनाव करने की जरूरत है। सभी डाइट एक समान नहीं होती हैं।

जब डाइटिंग की बात आती है,  तो केवल स्वस्थ खाना ही काफी नहीं है। असल में यह इससे कहीं ज्यादा मुश्किल है।

आज हम आपको उन सामान्य सी गलतियों के बारे में बताएंगे जिन्हें लोग अक्सर डाइटिंग के दौरान करते हैं ताकि आप उन्हें करने से बच सकें।

1. बार-बार अपना वजन नापना

वजन नापना

हर घंटे अपना वजन नापने से आपको निराशा से ज्यादा कुछ नहीं मिलने वाला।

इस बात को ध्यान में रखें कि आप दिन भर में जितना खाते हैं और जितनी कैलोरी जलाते हैं, उसके हिसाब से आपके वजन में बदलाव हो सकता है, इसलिए वजन की माप को दिल से लगाकर न  बैठे।

इसके साथ ही, आपको  एक दिन में एक ही बार नाप लेना चाहिए। कपड़ों के वजन से बचने के लिए बिना कपड़ों के नाप लेना अच्छा रहेगा।

इससे आपको उस समय चिंता नहीं होगी जब आप देखेंगे कि आपके वजन की माप आपकी इच्छानुसार नहीं है।

इसे भी आजमायें: दो डाइट प्लान जो आपका मेटाबोलिज़्म तेज़ करेंगे और घटाएंगे वजन

2. शायद आपके दोस्त की डाइट आपके लिए प्रभावी न हो

कुछ लोग ऐसा सोचते हैं, सभी डाइट हर इंसान पर एक ही तरीके से असर  दिखाती है। लेकिन ऐसा हो यह जरूरी नहीं है।

ऐसा हो सकता है कि आपके किसी दोस्त या परिवार के सदस्य का किसी डाइट को लेकर अच्छा अनुभव रहा हो, जबकि वही डाइट आपके लिये बिल्कुल बेअसर हो।

यह मत भूलिए कि हर किसी का शरीर एक डाइट के लिये अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया देती है।

इसके साथ ही, एक दिन में आप कितनी बार खाना खाते हैं इस बात को लेकर आपको परेशान नहीं होना चाहिए।

जब आप डाइटिंग पर होते हैं तो आपको एक दिन में पांच बार खाना खाने का सुझाव दिया जाता है,  जिनमें से तीन सबसे ज़रूरी ब्रेकफास्ट, लंच, और डिनर हैं।

अगर आप स्वस्थ खाना नहीं खायेंगे, तो आपका वजन कम नहीं होगा।

3. अपने खाने में फेर-बदल करें

3. अपना खाने में फेर-बदल करें

फल और सब्जियां कभी उबाऊ नहीं होती हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप उन्हें कैसे इस्तेमाल करते हैं।

अगर आप हर रोज रात के खाने में सलाद लेते हैं, तो इसमें कोई शक नहीं कि उससे उब जाएंगे।

याद रखें, जितना ज्यादा अलग-अलग तरीकों से आप फल और सब्जियों का इस्तेमाल करेंगे उतना ही कम आपको यह महसूस होगा कि आप डाइटिंग पर हैं।

यह जरूरी है जब आप रोजाना अपनी डाइट को अच्छी तरह फॉलो कर रहे हों तो उसका ज्यादा से ज्यादा लुफ्त उठायें, क्योंकि यह सीधे आपकी डाइटिंग करते रहने की इच्छा पर असर डालता है।

डाइट पर होने का यह मतलब यह नहीं है कि आप खाने का मजा नहीं ले सकते हैं या उसे मजेदार नहीं बना सकते हैं। बस उसमें कुछ नई चीजें मिलाइए और कुछ नया बनाइए।

4. एक्सरसाइज को लेकर जुनूनी न हों

एक्सरसाइज वजन घटाने का एक बुनियादी हिस्सा है और इसे डाइटिंग के साथ किया जाना चाहिए। लेकिन इसे  लेकर जरूरत से ज्यादा जुनूनी न बनें।

क्योंकि वजन घटाने के लिए यह जरूरी है कि आप आपने खाने से मिलने वाली कैलोरी और रोजाना एक्सरसाइज करने की आदत को संतुलित करें।

5. गड़बड़ियाँ न करें

गलतियाँ

अगर आपको ऐसा कुछ खाने का मन हो रहा है जिसे नहीं खाना चाहिए, तो न खाएं। अगर इस तरह की इच्छाओं को अपनी आदत बना लें तो डाइटिंग को बनाये रखने में  सफल नहीं हो पाएंगे।

काम में मीटिंग के दौरान कुछ मीठा या एक पेस्ट्री खाना मामूली बात हो सकती है, लेकिन यह न भूले कि आपको हमेशा अपनी डाइटिंग को लेकर सख्त रहना होगा।

यह डाइटिंग की आदत को छोड़ने और उन सभी खानों की लालच से बचने में मदद कर सकता है जिन्हें बनाने में आपने बहुत मेहनत की है।

समय रहते रोकथाम करना ज्यादा बेहतर है।

इसे भी पढ़ें:लीवर, पैंक्रियाज़ और किडनी की सूजन घटाने वाले जूस

6. हाइड्रेशन, एक जरूरी चीज

वैसे तो हाइड्रेट रहना हमेशा ही जरूरी है, लेकिन अगर आप लो-कैलोरी डाइट पर हैं तो आपके लिये यह और भी जरूरी हो जाता है।

दिन में कम से कम 2 लीटर पानी पीना सबसे अच्छा होता है। पानी या फिर पानी और लो-कैलोरी ड्रिंक्स को मिलाकर बनाई गई चीजें या सब्जियों का सूप लें।

बेशक  एक दिन में 4 लीटर से ज्यादा पानी ना पियें क्योंकि ज्यादा पानी पीने से आपके शरीर से बहुत सारे मिनरल पेशाब के जरिए बाहर निकल जाएंगे और इससे आपकी किडनी को जरूरत से ज्यादा काम भी करना पड़ेगा।

7. डॉक्टर से सलाह लें और अपनी डाइट पर भरोसा रखें

5-ग्रोसरी

आमतौर पर, सबसे असरदार डाइट वही मानी जाती है जिसके जरिये आप एक दिन में उतनी कम कैलोरी लें जितना पचा सकते हैं, जो घटते हुये वजन के रूप में दिखाई देता है।

हालाँकि और भी कुछ चीजें हैं जो इस संतुलन पर असर डाल सकती हैं, जैसे फ्लूइड रिटेंशन और पीरियड का होना।

हालांकि यह थोड़े समय की समस्याएँ हैं लेकिन ये डाइटिंग के नतीजों को बेअसर कर सकती हैं।

  • Santos HO., Macedo RCO., Impact of intermittent fasting on the lipid profile: assesment associated with diet and weight loss. Clin Nutr ESPEN, 2018. 24: 14-21.
  • Chao AM., Wadden TA., Tronieri JS., Berkowitz RI., Alcohol intake and weight loss during intensive lifestyle intervention for adults with overweight or obesity and diabetes. Obesity, 2019. 27 (1): 30-40.