COVID-19 की रोकथाम के अहम उपाय

01 अप्रैल, 2020
COVID-19 से बचाव के लिए सबसे असरदार उपाय हाथ धोना और इसके प्रकोप वाली जगहों से दूर रहना है। अगर आपको लगता है कि आप इसके लक्षण का अनुभव कर रहे हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

कोरोना वायरस के संक्रमण से होने वाले रोग COVID-19 से बचाव के उपायों को जानना बहुत ज़रूरी है। इस मामले में विश्व स्वास्थ्य संगठन और भारत सरकार ने बड़े विस्तृत ढंग से प्रोटोकाल जारी किया है। चीन जैसे देश की मिसाल से स्पष्ट है कि अगर इन दिशानिर्देशों पर हम निजी तौर पर कड़ाई से अमल करें तो इस बीमारी को रोक सकते हैं।

इस समय हम कोरोना वायरस की महामारी देख रहे हैं। यह वायरस जिसे COVID-19 के रूप में भी पहचाना जाता है, दुनिया के तमा देशों को अपनी चपेट में ले रहा है। दिसंबर 2019 में चीन में इसका पता चलने के बाद से यह वायरस तेजी से दुनिया भर में फैला है। बहुत से लोगों को क्वारंटाइन किया गया है, और बहुतों ने बीमारी को फैलने से रोकने के लिए खुद को आइसोलेशन में रखा है। इसी तरह कई लोग केवल फेस मास्क पहनकर सड़कों पर निकल रहे हैं। कई शहरों में क्वारंटाइन प्रोटोकॉल पहले से ही लागू कर दिए गए हैं। भारत में लगभग पूरी आबादी इस वायरस को हराने और बीमारी की रोकथाम के लिए अपने-अपने घरों में सिमट गयी है।

वैसे इस वायरस को लेकर फैल रही तमाम जानकारियों में कुछ गलत जानकारी भी है। तथ्य और कल्पना के बीच अंतर करना मुश्किल होता जा रहा है। इसकी रोकथाम के उपाय, इन्क्यूबेशन टाइम और ट्रांसमिशन विधि बहुत सी झूठी मान्यताओं से घिरी हुई दिख रही है। ऐसे में सरकार और इस दिशा में काम कर रही वैश्विक संस्थाओं से आयी जानकारी को ही भरोसेमंद मानना चाहिए।

कोरोना वायरस को आधिकारिक तौर पर डब्ल्यूएचऑ ने SARS-CoV-2 नाम दिया है और कभी कभी इसे ‘COVID-19 वायरस’ के रूप में भी जिक्र करता है। यह वायरस लोगों के बीच घनिष्ठ संपर्क, खांसी या छींकने से उत्पन्न साँस की बूंदों के जरिये एक से दूसरे व्यक्ति में फैलता है

इस लेख में हम COVID-19 वायरस की रोकथाम के उपायों की व्याख्या करेंगे।

COVID-19 वायरस की रोकथाम का पहला अहम उपाय : संक्रमित क्षेत्रों में जाने बचें

वैसे तो यह वायरस दुनिया भर में तेजी से फैल रहा है, लेकिन कुछ क्षेत्रों में इसे बहुत ज्यादा देखा जा रहा है। इन्हें रिस्क ज़ोन कहा जाता है, जहाँ इससे संक्रमित होने की संभावना ज्यादा होती है। उदाहरण के लिए उत्तरी इटली इसमें एक है।

बुनियादी बात संक्रमित लोगों से दूर रहना है। हालाँकि यह आसान लगता है, पर उतना है नहीं। COVID-19 में इन्क्यूबेशन पीरियड औसतन छह दिनों का है। साथ ही, डायग्नोस्टिक टेस्ट वाले लोगों की बढ़ती संख्या से हेल्थ सर्विसेज बोेझ से दब गयी हैं। इससे उन लोगों के संपर्क में आना लगभग लाजिमी हो गया है जो यह नहीं जानते हैं कि वे संक्रमण का शिकार हैं। यह सिफारिश की जाती है कि आप ऐसे लोगों के आस-पास जाने से बचें, जिनमें इसके लक्षण झलक रहे हैं, भले ही वे अभी भी नहीं जानते कि वे संक्रमित हैं।

भीड़-भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाना ही बुद्धिमानी है। हालांकि इन उपायों को लागू करना हर देश में स्वास्थ्य अधिकारियों पर निर्भर है, जिसमें वर्क एक्टिविटी को रद्द करना शामिल है।

पहली सिफारिश COVID-19 के लक्षणों वाले लोगों से दूर रहें।

सुरक्षित दूरी

वैज्ञानिकों ने कहा कि वायरस लगभग तीन फीट तक ट्रेवल कर सकता है। इसलिए अगर आपमें इसके लक्षण हों तो दूसरे लोगों से कम से कम तीन फीट दूर रहें। इटली में भी यह स्टैण्डर्ड उपाय है।

इसे भी पढ़ें : हमें जुकाम क्यों होता है

आपको अपने हाथों को बार-बार धोना चाहिए

हाथ धोना किसी भी संक्रमण की रोकथाम में सबसे बुनियादी और सहायक उपायों में से एक है। बाथरूम में जाने, छींकने या खांसने (और, निश्चित रूप से, यदि आप किसी बीमार व्यक्ति के संपर्क में हैं) के बाद विशेष रूप से हाथ धोना महत्वपूर्ण है। अपने हाथों को साबुन और पानी से धोना पर्याप्त है, लेकिन हैंड सैनिटाइज़र का भी उपयोग कर सकते हैं

छींकने या खांसने के बाद अपनी नाक और मुंह को ढंकना ज़रूरी है। आपको यह टिशू पेपर से करना चाहिए। आपको अपने हाथों को भी धोना चाहिए।

COVID-19 के संक्रमण की संभावना से बचाव

COVID-19 के संक्रमण की संभावना से बचाव का सबसे अच्छा उपाय हाथ धोना है।

इसे भी पढ़ें : खांसी, एलर्जी या फ्लू के इलाज में मदद के लिए प्याज का इस्तेमाल करें

इमरजेंसी सेवाओं से संपर्क करें

अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में हैं और आपमें लक्षण विकसित हो रहे हैं, तो इमरजेंसी सर्विसेज से संपर्क करने में संकोच न करें। इसकी चेतावनी वाले लक्षण खांसी, बार-बार छींक आना, सांस की तकलीफ (shortness of breath) और बुखार हैं।

आपको याद रखना चाहिए कि आजकल खतरा ज्यादा है। स्वास्थ्य सेवाएं बोझ से दबी हैं। उनसे सलाह लेना सिर्फ तभी ज़रूरी है जब आपको वाकई लगे कि आप इन्फेक्टेड हैं

खाने-पीने या अपने जानवरों की देख-रेख करने के बारे में कोई विशेष सावधानी की बात नहीं कही गयी है। पर COVID-19 से जुड़ी खबरों से अवगत रहना अहम है, क्योंकि रोजाना इसके नए उपाय और सिफारिशें लागू हो रही हैं

COVID-19 के खिलाफ बेहतरीन रोकाथाम का उपाय

जैसा कि हमने इस लेख में बताया, सबसे अच्छा उपाय लगातार हाथ धोना और संक्रमण के क्षेत्रों से दूर रहना है। उदाहरण के लिए अगर आप किसी व्यक्ति को खाँसी जैसे लक्षणों के साथ देखें तो आदर्श स्थिति यही है कि तीन फीट की सुरक्षित दूरी बनाए रखें।

अगर आपको खुद में ऐसे लक्षण दिखें तो डॉक्टर से सलाह लें। इसी तरह अगर शक है कि आप संक्रमित हो सकते हैं, तो आपको दूसरों को संक्रमित करने से बचने के लिए आपको खुद को अलग-थलग करना चाहिए।

  • Prevención y tratamiento Novel Coronavirus (2019-nCoV) | CDC. (n.d.). Retrieved March 11, 2020, from https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/about/prevention-sp.html?CDC_AA_refVal=https%3A%2F%2Fwww.cdc.gov%2Fcoronavirus%2F2019-ncov%2Fabout%2Fprevention-treatment-sp.html
  • Comunicado n°26 – Nuevas medidas preventivas para contrarrestar la propagación del covid-19 – Institucional / Comunicados – Universidad EAFIT. (n.d.). Retrieved March 11, 2020, from http://www.eafit.edu.co/medidas-preventivas-covid-19
  • Actualización de medidas de prevención ante el COVID-19 – SEMES. (n.d.). Retrieved March 11, 2020, from https://www.semes.org/semes-divulgacion/actualizacion-de-medidas-de-prevencion-ante-el-covid-19/
  • Información sobre el nuevo coronavirus | Universidad de Salamanca. (n.d.). Retrieved March 11, 2020, from https://www.usal.es/informacion-sobre-el-nuevo-coronavirus