100% नेचुरल ट्रीटमेंट से दोबारा हाथों को खूबसूरत बनायें

10 अक्टूबर, 2018
अपने हाथों के युवा और मॉइस्चराइज्ड लुक को बनाये रखने का रहस्य नियम का पक्का होना और रोज सुबह और रात को हाथों का कायाकल्प करने वाले नुस्खों का इस्तेमाल करना है।
 

हाथों की त्वचा नाजुक होती है। यह ऐसे कई कारकों के संपर्क में आती है जो इसे कमजोर करते हैं और इसके सिकुड़ने का कारण बनते हैं। इसलिए हाथों को खूबसूरत बनाए रखना बहुत मुश्किल होता है।

निरंतर कई किस्म की सतहों, केमिकल और सूरज की तेज धूप के संपर्क में आने की वजह से आपके हाथ देखने में खराब लग सकते हैं। छोटे-छोटे धब्बे, झुर्रियां और उभार प्रकट होने लगते हैं। यह असमय उम्र बढ़ने का संकेत देता है।

इस प्रकार की समस्या आम तौर पर 30 वर्ष की उम्र के बाद दिखाई देती है। सामान्य रूप से त्वचा ढीली होनी शुरू होती है और आपका शरीर कोलेजन और इलास्टिन के उत्पादन को कम करता है।

सौभाग्य से, बहुत से कॉस्मेटिक प्रोडक्ट और ट्रीटमेंट हैं जो आपके हाथों की सुंदरता और स्वास्थ्य को लम्बे समय तक बनाये रखने के लिए किसी भी किस्म के नुकसान को दूर कर सकते हैं।

इनमें कुछ 100% नेचुरल क्रीम भी हैं जो एलर्जी या अवांछित साइड इफेक्ट के बिना समान नतीजे देते हैं।

आज की पोस्ट में हम हाथों का कायाकल्प करने वाला फॉर्मूला शेयर करना चाहते हैं जिसका उपयोग आप अपने हाथों को हाइड्रेट और नरम करने के लिए कर सकती हैं।

क्या आप इसे बनाने के लिए तैयार हैं?

इसे भी पढ़ें: रूखे हाथों और क्यूटिकल के लिए घरेलू नुस्खे

एक नेचुरल नुस्ख़े से दोबारा हाथों को खूबसूरत बनायें

दोबारा हाथों को खूबसूरत बनाने वाला यह उपचार मोम, आम का मक्खन या मैंगो बटर, नारियल का तेल और गाजर के अर्क जैसे नेचुरल उत्पादों से बनता है।

इसकी यह विशेषता है कि इसमें फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट की ऊँची मात्रा होती है। यह एक सुरक्षात्मक बैरियर बनाती है ताकि फ्री रेडिकल्स के कारण कोशिकाओं को नुकसान न हो।

यह एक नेचुरल मॉइस्चराइजर है जो मृत त्वचा को हटाने में बढ़ावा देता है और आपकी त्वचा की चिकनाई और नेचुरल लचीलेपन को बहाल करता है।

इसके एक्टिव कम्पाउंड अल्ट्रावायलेट किरणों के कारण होने वाली क्षति से रक्षा करते हैं और काले धब्बों और बारीक झुर्रियों को कम करते हैं।

मोम के लाभ (Benefits of beeswax)

दोबारा हाथों को खूबसूरत बाने के लिए मोम
 

मोम (beeswax) एक ऑर्गनिक उत्पाद है जो हाथों की नाजुक त्वचा का पोषण करता है, उसे मॉइस्चराइज और नरम करता है। इसमें शांत करने और सूजन को रोकने वाले गुण हैं जो मृत कोशिकाओं और छोटे घट्टों को कम करते हैं।

इसके अलावा, इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो संक्रमण उत्पन्न करने वाले सूक्ष्मजीवों और फंगस की उपस्थिति को कम करते हैं।

मैंगो बटर के फायदे (Benefits of mango butter)

मैंगो बटर एक उष्णकटिबंधीय (tropical) उत्पाद है जो बनावट में कोको बटर के समान होता है। लेकिन इसमें अलग किस्म के फैटी एसिड होते हैं।

यह एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन से समृद्ध है जो कोशिकाओं के ऑक्सीकरण को कम करते हैं और त्वचा की घाव भरने की नेचुरल प्रक्रियाओं को सुधारते हैं।

इसे हाथों पर इस्तेमाल करने से वे नरम और सुरक्षित रहते हैं। नतीजे में ज्यादा समय तक युवा दिखाई देते हैं।

इसे भी पढ़ें: 7 नेचुरल तरीके जो मजबूत बनायें टूटते नाखून

नारियल के तेल के लाभ (Benefits of coconut oil)

दोबारा हाथों को खूबसूरत बाने के लिए नारियल का तेल

नारियल में मौजूद मिडिल चेन फैटी एसिड और विटामिन E इसको त्वचा की देखभाल के लिए लाजवाब चीज बनाती है।

इसमें शांत करने वाले और जीवाणुरोधी गुण हैं जो घट्टों, सूजन और संक्रमण को रोकने के लिए आपके हाथों की गहराई से साफ करते हैं।

इसका नियमित उपयोग आपकी त्वचा की कोशिकाओं का पोषण करता है, उनके दोबारा बनने की क्रिया को बढ़ावा देता है और यूवी किरणों के नेगेटिव असर को कम करता है।

गाजर के अर्क के फायदे (carrot essence)

गाजर के अर्क में बीटा-कैरोटीन ( beta-carotene) की ऊँची मात्रा होती है। यह एंटीऑक्सिडेंट आपकी त्वचा के नेचुरल टोन को सुधारता है और सेलुलर क्षति को धीमा करता है।

यह त्वचा के लचीलेपन को बढ़ाने और सूखेपन का मुकाबला करने के सबसे अच्छे उत्पादों में से एक माना जाता है।

धूप में जाते समय इसका उपयोग करना सुविधाजनक है क्योंकि यह तेज यूवी रेडिएशन और वातावरण की अशुद्धियों से रक्षा करता है।

 

दोबारा हाथों को खूबसूरत बनाने वाले नेचुरल उपचार को कैसे तैयार करें

दोबारा हाथों को खूबसूरत बाने के लिए नुस्खा

दोबारा हाथों को खूबसूरत बनाने वाले इस नेचुरल उत्पाद को तैयार करना आसान है और इसके फायदे पारंपरिक हाथों की क्रीम की तुलना में कहीं ज्यादा हैं।

अच्छे नतीजे पाने की कुंजी ऑर्गनिक अवयवों को खरीदना है जो परिष्करण की किसी भी प्रक्रिया से नहीं गुजरे हैं।

सामग्री

  • 4 बड़े चम्मच मोम (60 ग्राम)
  • 2 बड़े चम्मच मैंगो बटर (24 ग्राम)
  • 8 बड़े चम्मच नारियल का तेल (120 ग्राम)
  • 10 बूंदें गाजर का अर्क
  • 1 एयरटाइट ग्लास कंटेनर

निर्देश

  • मोम को एक डबल बॉयलर में डालें और इसे पिघलने तक गर्म करें।
  • मैंगो बटर डालें और एक सिलिकॉन के चम्मच से हिलायें जब तक दोनों घटक अच्छी तरह मिल न जायें।
  • उसमें नारियल का तेल और कैरेट एसेंस की बूंदें डालें।
  • हिलाते रहें और जब सब कुछ ठीक से मिश्रित न हो जाये, आंच पर से न हटायें।
  • इसे कुछ मिनट तक यूंही रहने दें और ठोस बनने से पहले एक ढक्कन वाले ग्लास कंटेनर में डालें।
  • जब सही गाढ़ापन आ जाये तो इसे इस्तेमाल करना शुरू कर सकती हैं।
  • इसे दिन में दो बार लगायें, सुबह और सोने से पहले।

क्या आप अभी भी अपने हाथों को नजरअंदाज कर रही हैं? अब जब आप जानती हैं कि कैसे उनकी रक्षा कर सकती हैं और उन्हें हाइड्रेट कर सकती हैं, तो दोबारा हाथों को खूबसूरत बनाने वाले इस नुस्ख़े को घर पर बनायें और इसे अपनी डेली रूटीन में शामिल करने से संकोच न करें।

 
  • Muñoz, D. H. D. V. (2006). Guia para lavado de manos. Ministerio de Salud CUSCO. https://doi.org/10.1145/1138450.1138456
  • Guerra, D. (2005). Uso de antisépticos y desinfectantes. Revista Del Hospital Materno Infantil Ramón Sardá.
  • Limón Cáceres, E. (2008). La importancia del lavado de manos y de utilizar guantes para evitar las infecciones cruzadas. Enfermeria Clinica. https://doi.org/10.1016/S1130-8621(08)72201-0