एक्जिमा का इलाज करने के बेहतरीन नुस्खे

13 नवम्बर, 2018
एक्जिमा का इलाज कुछ बेहतरीन प्राकृतिक नुस्खों से किया जा सकता है। ये नुस्खे तैयार करने में आसान हैं और एक्जिमा के इलाज के लिए बहुत असरदार हैं।

एक्जिमा का मतलब है, कई तरह की त्वचा की सूजन। इसे डरमेटाइटिस भी कहा जाता है। ज्यादातर मामलों में एक्जिमा सूखापन और खुजली पैदा करता है। यह चकत्ते के समान भी दिखाई दे सकता है:

  • चेहरा
  • अंदरूनी कोहनी और घुटनों के पीछे
  • हाथ और पैर
  • खरोंचने से वह जगह लाल हो लकती है। इससे सूजन और खुजली और भी बदतर हो जाती है। खरोंचने के कारण एक्जिमा ज्यादा तेजी से फैलता है।

हर तरह के एक्जिमा को इसकी विशेषताओं के अनुसार श्रेणियों में बांटा जा सकता है :

  • एटॉपिक: एटॉपिक एक्जिमा की कई किस्में हैं। फिर भी, साधारणतः उस क्षेत्र में चमड़ी लाल और रूखी हो जाती है। इसमें लगातार खुजलाहट रहती है।
  • सेबॉरिक : सेबॉरिक डरमेटाइटिस त्चवचा की एक साधारण सूजन की बीमारी है जिसमें त्वचा पपड़ीदार हो जाती है। यह ज्यादातर सिर की त्चचा (इसे रूसी समझने की गलतफहमी नहीं करनी चाहिए) और चेहरे पर होती है।
  • कॉन्टैक्ट : कॉन्टैक्ट डरमेटाइटिस त्वचा की उस सूजन का नाम है जो त्वचा के किसी बाहरी वस्तु के साथ संपर्क में आने पर होती है।

अधिकतर, यह साधारण रूप से होने वाली एक बीमारी है। इसलिए इसके लक्षणों को रोकने के लिए बेहतरीन प्राकृतिक नुस्खों के बारे जानने के लिए यह लेख पढ़ना जारी रखिए।

एक्जिमा का इलाज शहद से

एक्जिमा का इलाज शहद से

इसमें कोई रहस्य नहीं है कि शहद एंटीबैक्टीरियल गुणों की बढ़ोतरी करती है और एक्जिमा जैसे रोगों के इलाज में मदद करती है। इस तरह आप इस नेचुरल प्रोडक्ट का इस्तेमाल एक्जिमा का इलाज करने के लिए कर सकते हैं।

सामग्री

चार बड़े चम्मच शहद के (100 ग्राम)

इस्तेमाल

  • सबसे पहले एक्जिमा की जगह पर शहद को उंगली में लगाकर गोलाकार घुमाते हुए मलिए।
  • शहद को 2 घंटे के लिए वैसे ही रखना सुनिश्चित करें।
  • बाद में ज्यादा पानी का इ्स्तेमाल करते हुए इसे धोयें और शरीर के इस भाग को हवा में खुला छोड़ दीजिए।

यह लेख भी पढ़िए : हल्दी और शहद से बना जबरदस्त नेचुरल नुस्खा

ऑलिव ऑयल

अपने अद्भुत गुणों के कारण एक्जिमा का इलाज करने के लिए ऑलिव ऑयल बहुत असरदार है।

  • यह एक्जिमा के संक्रमण में राहत देता है और इसके कारण हुई सूजन को कम करता है।
  • ऑलिव ऑयल एपिडर्मिस में गहराई तक प्रवेश करता है। यह बिना किसी एलर्जिक रिएक्शन के त्वचा का पोषण करता है और उसे मुलायम बनाता है।
  • इसमें विटामिन E और ओमेगा-3 फैटी ऐसिड हैं। ये त्वचा को नम रखते हैं और सूखापन रोकते हैं।
  • इसमें टायरसॉल और बीटा-साइटोस्टेरॉल हैं जो इन्फ्लैमेटरी कम्पाउंड्स का उत्पादन बिल्कुल कम कर देते हैं।
  • यह स्किन बैक्टीरिया की मात्रा कम करता है।

सामग्री

  • चार बड़े चम्मच ऑलिव ऑयल के (60 मिलिलीटर)

इस्तेमाल

  • पहले त्वचा पर ऑलिव ऑयल लगाइए। साफ तौलिए से रगड़िए और गोलाकार घुमाते हुए मालिश कीजिए।
  • सबसे अच्छे नतीजों के लिए ऑलिव ऑयल लगाकर 2 घंटे के लिए छोड़ देना बहुत जरूरी है।
  • बाद में, ज्यादा पानी इस्तेमाल करते हुए इसे धो डालिए और शरीर के इस भाग को हवा में खुला छोड़ दीजिए।

इस लेख को भी देखें  : ऑलिव ऑयल और लहसुन से करें नसों की सूजन का नेचुरल ट्रीटमेंट

एप्पल साइडर विनेगर

विनेगर एक तरल है जो मुख्य रूप से एसिटिक एसिड और पानी है। जब एसिटिक एसिड के बैक्टीरिया एथनॉल फरमेंट करते हैं, तब यह बनता है। विनेगर केवल रसोईघर की सामग्री ही नहीं है, बल्कि इसके इंडस्ट्रियल, मेडिकल और घरेलू उपयोग भी हैं।

एक्जिमा का इलाज करने के लिए एक प्राकृतिक नुस्खे के रूप में विनेगर का इस्तेमाल संक्रमण को रोकता है। यह भविष्य में  होने वाले एक्जिमा की रोकथाम करने में शरीर की मदद भी करता है। 

सामग्री

  • चार बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर के (60 मिलिलीटर)

इस्तेमाल

  • एक्जिमा प्रभावित जगह पर एप्पल साइडर विनेगर को रगड़िए। इसके लिए किसी सूखे तौलिए को काम में ला सकते हैं।
  • इसे 2 घंटे के लिए रहने दीजिए।
  • बाद में ठंढा पानी ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करते हुए इसे धो डालिए और शरीर के इस भाग को हवा में खुला छोड़ दीजिए।

संतरे, क्लेमेन्टाइन और दूसरे साइट्रिक फल

इन फलों में विटामिन C का परिमाण बहुत ज्यादा होता है। यह शरीर द्वारा उत्पन्न हिस्टामाइन की मात्रा को घटा सकता है। हिस्टामाइन एक कंपाउंड है जिसे शरीर एलर्जेन का सामना होने पर छोड़ता है। इस तरह, ऐसे फल एटॉपिक एक्जिमा से पीड़ित लोगों के इलाज में बड़े मददगार हो सकते हैं।

सामग्री

  • संतरा
  • क्लेमेन्टाइन
  • अमरूद

इस्तेमाल

  • संतरा, क्लेमेंटाइन या अमरूद खाना एक्जिमा के लक्षणों को रोक सकता है।
  • प्रत्येक भोजन के बाद आपको इनमें से किसी भी फल का एक टुकड़ा खाना चाहिए।

एक्जिमा का इलाज एलोवेरा से

एक्जिमा का इलाज ऐलोवेरा से

एक्जिमा के दागों का इलाज करने के लिए एक दूसरा प्रचलित घरेलू नुस्खा ऐलोवेरा है। इसके एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण एक्जिमा की वजह से हुई खुजली को कम करते हैं। समय के साथ यह काले दागों को भी साफ कर देता है।

सामग्री

  • एक बड़ा चम्मच ऐलोवेरा जेल (15 मिलिलीटर)

इस्तेमाल

  • पहले, ऐलोवेरा जेल को उन जगहों पर लगाएँ जहाँ आपको साधारणतः एक्जिमा होता है। अपनी उंगलियों के पोरों का इस्तेमाल करते हुए जेल को गोलाकार घुमाते हुए इसे चारों ओर फैला दीजिए।
  • इसे 20 घंटों के लिए रहने दीजिए। बाद में ज्यादा मात्रा में ठंडे पानी से इसे धो डालिए।