अंदर की तरफ़ बढ़े नाखूनों से निपटने के 6 घरेलू उपाय

15 मार्च, 2019
क्या आप जानते हैं कि अंदर की तरफ़ बढ़े नाखूनों से राहत दिलाने और उन्हें रोकने में अदरक मददगार साबित हो सकती है? सूजन को कम करने और आपके नाखूनों को ठीक करने के अलावा अपने सक्रिय तत्वों की बदौलत अदरक अंदर की तरफ़ बढ़े नाखूनों में होने वाले दर्द और सूजन से भी आपको राहत दिलाती है।

क्या आप अंदर की तरफ़ बढ़े अपने नाखूनों का कोई घरेलू इलाज ढूंढ़ रहे हैं?

मेडिकल जगत में ओनीकोक्रिप्टोसिस (onychocryptosis) के नाम से जाने जाने वाले अंदर की तरफ़ बढे नाखूनों (Ingrown Nails) वाला इस समस्या की शुरुआत तब होती है, जब हमारा कोई नाखून हमारे पैर की अंगुली की त्वचा में गड़ जाता है

प्रभावित जगह में होने वाले दर्द और लाली इसके प्रमुख लक्षण होते हैं। संक्रमित हो जाने पर वह ज़ख्म सूजन, मवाद और अन्य जटिलताओं का सबब भी बन सकता है।

अंदर की तरफ़ बढ़े नाखूनों का संबंध लगातार अनुपयुक्त जूतों के इस्तेमाल से होता है। अक्सर पाया जाता है कि सख्त कपड़े से बने होने की वजह से उन जूतों में आपके पैरों को हवा नहीं लग पाती।

भले ही इसे किसी गंभीर परेशानी के तौर पर न देखा जाता हो, पर जटिलताओं से बचने के लिए सही वक़्त पर इसका इलाज करवा लेने की ही सलाह दी जाती है।

खुशकिस्मती से, ऐसे कई 100% प्राकृतिक उपाय हैं, जो आपकी उँगलियों को तेज़ी से ठीक कर देने के साथ-साथ कीटाणुओं के खिलाफ़ आपके पैरों की उँगलियों की किलाबंदी करने का काम भी करते हैं।

इस लेख के ज़रिये, अंदर की तरफ़ बढ़े हुए अपने नाखूनों का इलाज करने के 6 कारगर विकल्पों को हम आपके साथ साझा करना चाहेंगे।

अंदर की तरफ़ बढ़े हुए अपने नाखूनों का इलाज करने के प्राकृतिक उपाय

1. शहद

अंदर की तरफ़ बढ़े हुए अपने नाखूनों का इलाज करें इन घरेलू उपायों से

अंदर की तरफ़ बढ़े हुए नाखूनों पर लगाई शहद के सूजनरोधी और एंटीबैक्टीरियल प्रभाव इस समस्या से निजात दिलाने में मददगार साबित होते हैं।

उसकी ये खूबियाँ हमारे पैरों को संक्रमणों से बचाए रखती हैं व नाखून को बाहर खींच निकालने लायक हमारी त्वचा को नरम भी बना देती हैं

इस्तेमाल की विधि

  • थोड़ी-सी जैविक शहद लेकर उसे अपने प्रभावित नाखून पर लगा लें।
  • 30 मिनट तक ऐसे ही रखने के बाद उसे धो लें।
  • इस परेशानी के काबू में आ जाने तक इस प्रक्रिया को रोज़ाना दो बार दोहराएं

इसे भी पढ़ें : अंदर की ओर बढ़े पैर के नाखूनों के लिए 6 पुराने ट्रीटमेंट

2. यूकेलिप्टस का तेल

यूकेलिप्टस एसेंशियल ऑइल की एंटीमाइकोटिक और एंटीबैक्टीरियल खूबियाँ अंदर की तरफ़ बढ़े हमारे नाखूनों का इलाज कर सकती हैं। उसे लगाने से आपके पैरों की उँगलियों में सूजन कम हो जाती है व आपको दर्द से आराम मिलता है

इस्तेमाल की विधि

  • कॉटन के किसी कपड़े को यूकेलिप्टस ऑइल में भिगोकर उसे प्रभावित जगह पर लगा लें।
  • उसे 30 मिनट तक लगाए रखें या फिर 2 घंटे के लिए उसे किसी पट्टी से ढँक दें
  • अपने नाखून के ठीक हो जाने तक उसका इस्तेमाल रोज़ाना करें

3. लहसुन

लहसुन की मदद से अंदर की तरफ़ बढ़े नाखूनों का इलाज करें

अंदर की तरफ़ बढ़े हुए नाखूनों से पैदा होने वाली सूजन और दर्द के प्राकृतिक इलाज के तौर पर लहसुन के सल्फ़्यूरिक तत्वों का इस्तेमाल किया जा सकता है। उसकी ये खूबियाँ प्रभावित त्वचा को संक्रमित होने से रोककर उसपर होने वाले घट्टों को नरम बना देती है, जिसके फलस्वरूप हमें इस समस्या से राहत मिल जाती है।

इस्तेमाल की विधि

  • लहसुन की एक गँठी को पीसकर किसी बैंडेज की मदद से उसके पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगा लें।
  • अगर आप चाहें तो उसमें थोड़ा-सा जैतून का तेल मिलाकर उसके हाइड्रेटिंग और बलवर्धक प्रभाव में बढ़ोतरी ला सकते हैं।
  • कम से कम 4 घंटे तक उसे अपना काम करने दें। उसके बाद उसे ठंडे पानी से धो लें।
  • इस इलाज को रोज़ाना दोहराएं।

4. समुद्री नमक (Sea salt)

समुद्री नमक एक ऐसा सुकून पहुंचाने वाला सूजनरोधी तत्व होता है, जो इस अवस्था की वजह से होने वाली जलन और दर्द पर लगाम लगा सकता है

संक्रमणों से हमारी त्वचा की रक्षा कर वह नाखून को खींच निकालने की प्रक्रिया को आसान बना देता है

इस्तेमाल की विधि

  • आधे कप समुद्री नमक को गुनगुने पानी में मिलाकर अपने पैरों को 20 मिनट के लिए उसमें डाल दें
  • वैकल्पिक रूप से, नमक में थोड़ा-सा नारियल का तेल मिलाकर प्रभावित नाखून पर उसका इस्तेमाल किसी एक्सफोलिएंट के तौर पर भी किया जा सकता है।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में कम से कम 3 बार दोहराएं

इसे भी पढ़ें : पैरों की उँगलियों में लगी फंगस के बारे में 7 तथ्य

5. अदरक की अर्क (Ginger infusion)

अंदर की तरफ़ बढ़े हुए नाखूनों का इलाज करने के लिए इस्तेमाल करें अदरक का

अदरक के सक्रिय तत्वों में से एक, जिंजरोल, के सूजनरोधी और एंटीबैक्टीरियल गुण अंदर की तरफ़ बढ़े अपने नाखूनों का मुकाबला करने में आपकी मदद कर सकते हैं। प्रभावित जगह पर उनके सीधे इस्तेमाल से आपको अपने दर्द से आराम मिलता है व आपका पैर पहले से कम लाल रह जाता है

इस्तेमाल की विधि

  • अदरक की जड़ को गर्म पानी में डालकर पानी के गाढ़ा हो जाने तक उसे कई मिनट तक इन्फ्यूस होने के लिए छोड़ दें
  • सही तापमान पर पहुँच जाने पर अपने पैरों को उसमें 20 मिनट तक डाले रखें
  • उन्हें अच्छे से सुखाकर इस प्रक्रिया को रोज़ाना दोहराएं।
  • अगर आप चाहें तो अदरक का तेल खरीदकर उसे सीधा दर्द करते अपने नाखून पर भी लगा सकते हैं

6. एप्पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)

अपने नाखूनों पर एप्पल साइडर विनेगर लगाने से आप फंगल संक्रमणों से तो बचे ही रहते हैं, आपके पैरों की उँगलियों में लाली और सूजन में भी कमी आ जाती है

आपकी त्वचा के पी.एच. स्तर को वापस पहले जैसा करने के साथ-साथ अंदर की तरफ़ बढ़े हुए अपने नाखूनों से वह आपको राहत भी दिलाता है।

इस्तेमाल की विधि

  • एक कप सेब साइडर सिरके को किसी कटोरे में रखे गुनगुने पानी में मिला दें। फिर अपने पैरों को 30 मिनट तक उसमें डाले रखें
  • अगर आप चाहें तो कॉटन के किसी कपड़े को सेब साइडर सिरके में भिगोकर उसे सीधा ही अपने ज़ख्म पर लगा सकते हैं।
  • अपनी ऊँगली की हालत में सुधार आ जाने तक इस उपचार को रोज़ाना दोहराएं।

अपनी इस समस्या का सामना करने के लिए क्या आप तैयार हैं? उपर्युक्त किसी भी नुस्खे को आज़माकर आप पाएंगे कि बड़ी-बड़ी दवाओं या इलाज के बिना ही आप अपनी ऊँगली को ठीक कर सकते हैं

लेकिन इन उपायों के इस्तेमाल के कई दिन बाद भी अगर आपकी हालत में कोई सुधार नहीं आता तो अपने डॉक्टर के पास जाकर अन्य विकल्पों का पता लगाने में संकोच न करें।