बाथरूम की सफ़ाई के बेहद असरदार टिप्स

जुलाई 19, 2018
स्वास्थ्य की दृष्टि से नियमित तौर पर बाथरूम की सफाई बहुत ज़रूरी होती है। जानें कि आसानी से उपलब्ध उत्पादों से अपने बाथरूम की सफ़ाई असरदार तरीक़े से कैसे की जाये।

बाथरूम की सफ़ाई कभी-कभी बहुत उबाऊ और निराश करने वाला काम हो जाता है।

बाथरूम की सफ़ाई पर काफ़ी समय देने के बावजूद भी अक्सर इसका नतीज़ा हमारे द्वारा की गयी कोशिशों के मुताबिक़ दिखाई नहीं देता। हालांकि, ऐसे मामले में, यह काफी हद तक मुमकिन है कि आपने सफ़ाई के सही तरीकों का उपयोग न किया हो।

स्ट्रांग केमिकल का उपयोग बाथरूम की सफाई के लिए सबसे अच्छा विकल्प नहीं है। ऐसे केमिकल में कई हानिकारक पदार्थ होते हैं। सफाई करते समय ये हानिकारक पदार्थ हवा में फ़ैल जाते हैं और इसका आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। इस बात का ख़याल रखते हुए आपको कम आक्रामक केमिकल उपयोग में लाने चाहिए और साथ ही इनका उपयोग करते समय उचित सावधानी बरतनी चाहिए।

हालांकि, कुछ नेचुरल साधन हैं जो पूरी तरह से सुरक्षित भी हैं। इनकी सबसे अच्छी बात यह है कि ये बेहद असरदार भी हैं। वैसे इन नेचुरल साधनों को अपनाने में थोड़ी परेशानी महसूस हो सकती है, पर शानदार नतीज़े के लिए इन्हें अपनाया जा सकता है।

यहां कुछ नेचुरल साधन दिए गए हैं, जो आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। इनकी मदद से बाथरूम की सफ़ाई के तरीके यहां बताए गए हैं।

बाथरूम की सफ़ाई टॉयलेट से शुरू करें

बाथरूम की सफ़ाई: टॉयलेट

टॉयलेट ऐसी जगह है जहां अधिकांश बैक्टीरिया जमा होते हैं।  इस वजह से, इसे हर दिन साफ किया जाना चाहिए। यदि आपके पास इसके लिए समय नहीं है, तो कम से कम हर दिन टॉयलेट क्लीनर से फ्लश किया करें।

टॉयलेट बाउल को अंदर की ओर किसी क्लोरीन युक्त कीटाणुनाशक से साफ किया जाना चाहिए। इस कार्य को करते समय दस्ताने पहनना और चेहरे पर मास्क लगाना ठीक रहेगा। टॉयलेट में इसे भीतर सभी ओर फैलाएं और कुछ मिनट तक असर करने के लिए छोड़ दें। फिर, एक ब्रश की मदद से इसे साफ़ करें और टॉयलेट को फ्लश कर दें।

अगर दाग-धब्बे या दूसरे जमाव पड़े हों, तो इनके लिए विनेगर का उपयोग सबसे सरल उपाय है। पानी और विनेगर को बराबर मात्रा में मिलाइए। फिर, दाग वाले हिस्से पर इस घोल को लगाइए। 10 मिनट असर डालने के लिए छोड़ दें और फिर फ्लश कर दें।

आप कोला ड्रिंक के प्रयोग से भी ऐसा नतीजा पा सकते हैं। दाग वाले हिस्से पर कोला डाल दें और इसे 30 मिनट तक काम करने दें। फिर ब्रश से साफ़ करें। इस प्रक्रिया को फ़िर दोहराएं। इस प्रकार के ड्रिंक पाइप को साफ़ करने में भी मदद कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:

5 प्रैक्टिकल नेचुरल तरीके: शौचालय में जमे लाइमस्केल को हटाने के 

बाथ और सिंक

बाथरूम की सफ़ाई के दौरान आपके लिए बाथ वह दूसरी जगह है जहां दाग-धब्बे और जमाव की समस्या आम है। ऐसे मामलों में विनेगर का इस्तेमाल काफ़ी असरदार होता है। एक स्पंज से विनेगर को सीधे दाग-धब्बों पर लगा दें। इसे कुछ मिनटों के लिए छोड़ दें और पानी से साफ़ कर दें।

आप सफेद विनेगर में भिगोए पेपर टॉवल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।  इस टॉवल को दाग पर रखें, 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फ़िर हटा लें।  बाद में इसे पानी से अच्छी तरह साफ़ कर दें।

सिंक में आपको नल और प्लग होल की सफ़ाई पर विशेष ध्यान देना होगा। ब्रश के इस्तेमाल से बेहतर सफ़ाई की जा सकती है। उन्हें सप्ताह में कम-से-कम एक बार, भीतर और बाहर दोनों तरफ़ से अच्छी तरह साफ करें। ऐसा करने पर आपको कभी भी इसके ब्लॉकेज की परेशानी झेलनी नहीं पड़ेगी।

शॉवर और टाइल्स

बाथरूम की सफ़ाई: टाइल्स

शॉवर पर अक्सर कैल्शियम या लाइमस्केल की परत जमा हो जाती है विनेगर इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है। बस बराबर मात्रा में पानी और विनेगर को मिलाएं और इस मिश्रण को एक स्प्रे बोतल में भर लें। इस मिश्रण को शावर के सभी धातु वाले हिस्सों पर स्प्रे करें। स्प्रे करने के बाद सूखे कपड़े से इन हिस्सों को साफ़ करें।

टाइल्स के लिए भी यही मिश्रण उपयोग में लाया जा सकता है। टाइल्स पर अक्सर लाइम स्केल जमने से दाग-धब्बे पड़ जाते हैं। टाइल्स पर ऐसे दाग धब्बों वाले हिस्सों पर पानी और विनेगर का यह मिश्रण अच्छी तरह से स्प्रे करें। पांच मिनट इंतज़ार करें और फिर साफ करें।

अक्सर दो टाइल्स के बीच की दरार गंदी हो जाती है। ऐसा धूल और अन्य गंदगी के जमने की वजह से होता है। इन दरारों को पानी और पोटाश का मिश्रण अच्छी तरह से साफ़ कर देता है। इसके लिए समान भाग में पोटाश और पानी मिलाएं। इस मिश्रण से एक गीले टूथब्रश की मदद से टाइल्स के बीच की दरारों की सफ़ाई करें।

इसे भी पढ़ें:

शावर के फव्वारे में पानी का दबाव बढ़ाने के आसान तरीके

बाथरूम में जमी काई या मोल्ड की सफाई

बाथरूम की सफ़ाई: बाथटब

बाथरूम की सफाई में काई या मोल्ड की सफ़ाई को नज़रंदाज़ नहीं किया जा सकता। यह फर्श, दरवाजे के फ्रेम, और कोनों में जम जाती है। काई को हटाने के लिए गर्म पानी, ब्लीच, और साबुन के बराबर मात्रा का मिश्रण बनाएं

एक स्प्रे बोतल से इस मिश्रण को उन सभी जगहों पर छिड़कें जहां काई जमी है  फिर, पुराने तौलिये की मदद से काई को रगड़कर निकालें। यदि कालीन पर फफूंद लगी है, तो इस मिश्रण को उस हिस्से पर छिड़ककर कुछ मिनट के लिए सूखने दें। फिर इसे अच्छी तरह से साफ़ कर लें।