जीवन की नयी शुरुआत किसी भी उम्र में कैसे करें

मई 21, 2018
सबकुछ छोड़कर जीवन की नयी शुरुआत करना आसान नहीं है। यह बहुत ही कठिन है। लेकिन अगर अपने जीवन में परिवर्तन लाकर आपको सुख मिल सकता है तो ऐसा जरूर करना चाहिए।

जीवन की नयी शुरुआत करना हमेशा मुश्किल होता है। यह एक अपरिचित दिशा में कूदने के समान होता है। इसके लिए अपने मन को मजबूत करके लोगों को अलविदा कहना पड़ता है। बहुत सी चीजों को छोड़ना पड़ता है।

संभव है कि आपको अपने जीवन में कई बार एक नया मोड़ लेना पड़ा हो। इसके पीछे कारोबारी या पारिवारिक कारण रहे होंगे। हो सकता है आपकी कोई व्यक्तिगत समस्या रही हो।

कुछ बातें हमें जीवन में एक नया रास्ता लेने से रोकती हैं। जैसे हमारा यह ख़याल कि जीवन की नयी शुरुआत करने के लिए “बहुत देर हो गयी है”। उम्र ज्यादा हो जाने के बाद हमें समर्पण करना पड़ता है। हमने सब अवसर गवां दिए हैं। इसलिए अपनी परिस्थितियों के साथ समझौता कर लेना चाहिए।

ये बातें सही नहीं हैं। जीवन की नयी शुरुआत करने और अपनी खुशी को प्राप्त करने के लिए कभी भी ज्यादा देर नहीं होती है। वास्तव में, खुश रहना आपका कर्तव्य है।

हम चाहेंगे कि किसी भी उम्र में जीवन की नयी शुरुआत करने के लिए इस लेख में दी गयी युक्तियों पर विचार करें।

किसी भी उम्र में जीवन की नयी शुरुआत

जीवन की नयी शुरुआत करने से लाभ होता है

अपने भविष्य और आप क्या बनना चाहते हैं उसके बारे में विचार करें

यदि आपके मन में संदेह, चिंता या डर है तो ज़रा भविष्य की ओर देखें। कल्पना करें कि 2 वर्ष बीत चुके हैं और आप खुश, पूर्ण और शांत हैं।

अब अपनी भावनाओं का मूल्यांकन करें। ध्यान रखें, खुशी की खोज करना आवश्यक नहीं है। जीवन में मन की शांति, संतुलन और पूर्णता प्राप्त करना पर्याप्त है। अगर आपके जीवन में इनका अभाव है तो कुछ परिवर्तन करें। खुद को दूसरा अवसर देने का अधिकार आपको है।

छोटे-छोटे, कम समय के लक्ष्यों के साथ शुरू करें

हर बदलाव के लिए छोटे-छोटे निर्णय लेने पड़ते हैं। ये धीरे-धीरे आपको अपने लक्ष्य के पास ले जाते हैं। यहाँ पर कुछ छोटे लक्ष्यों के उदाहरण दिए गए हैं जिनको आप अपना सकते हैं:

  • आज मैं अपनी बेचैनी और चिंता का नियंत्रण करूंगा। मैं अपने जीवन की नयी शुरुआत करने जा रहा हूँ। मैं अपने इस निर्णय को स्वीकार करता हूँ। इस काम की जिम्मेदारी लेता हूँ। मैं अपने भय को मन की शांति और दृढ़ संकल्प में बदलूँगा।
  • आज मैं अपने जीवन को नया मोड़ देने के विषय में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करूंगा। उदाहरण के लिए नयी नौकरियों, समाज सेवा और अन्य आधिकारिक संगठनों के बारे में पता करूंगा जो इस कार्य में सहायक हो सकते हैं।

आप इतने अकेले नहीं हैं जितना आप सोचते हैं: सही सहारा ढूंढ़ें

जब आप जीवन की नयी शुरुआत करने, जीवन में नया रास्ता अपनाने के बारे में सोचते हैं तो मन में भय और चिंताएं उत्पन्न होती हैं। उस समय अगर आपको किसी अनुभवी व्यक्ति का सहारा मिल जाता है तो आपको आगे बढ़ने की ताकत मिलती है।

  • सहारा ढूंढ़ते समय होशियारी से काम करें। आपको अपने परिवार के सदस्यों और अपने दोस्तों से ज्यादा अच्छी राय नहीं मिल सकती है। वे आपको ऐसा न करने के लिए कह सकते हैं। आपको कुछ दिन और इंतज़ार करने का सुझाव दे सकते हैं।
  • अगर आपने जीवन की नयी शुरुआत करने का निर्णय ले लिया है तो ऐसे लोगों से सहारा लें जो स्वयं यह कदम उठा चुके हैं। वे आपको सबसे अच्छी सलाह और सहारा दे सकते हैं।

भविष्य अपरिवर्तनीय नहीं है, आने वाला कल नए अवसरों से भरा होगा

अतीत आपको सिखाता है और ज्ञान देता है। उसके कारण आप अनुभव प्राप्त करते हैं और जीवन के पाठ सीखते हैं। वह आपको हिम्मत देता है जो आपके लिए एक मजबूत साधन है।

  • जब हम बदलाव की ओर कदम उठाते हैं तो सब कुछ एकदम नया लगता है। लेकिन परिवर्तन में कोई बुराई नहीं है। हमें उससे डर लग सकता है। लेकिन वह हमें अपने सपनों को पूरा करने का अवसर देता है।
  • हमारी सबसे बड़ी जरूरत होती है कि हमें अपने बारे में सोचकर अच्छा लगे। हम चिंताओं, आंसुओं और असफलताओं से मुक्त हों। ये बातें यह निर्धारित नहीं करती हैं कि आप कौन हैं। लेकिन ये आपको सफलता प्राप्त करने के प्रयासों को जारी रखने के लिए प्रेरित करती हैं।

सीमित करने वाले विचारों और आदतों को छोड़ दें

  • “मेरी बहुत ज्यादा उम्र हो गयी है अब मुझे कोई नौकरी नहीं मिलेगी।” यह सोचने की जगह आप अपनी स्किल और क्षमताओं के बारे में सोचें और रचनात्मक बनें। सिर्फ एक नौकरी की खोज में न रहें। अपने गुणों को पहचानें। अपनी सर्जनशीलता का उपयोग करें।
  • “मैं कभी अकेले नहीं रहा हूँ इसलिए मैं समझौता कर लेता हूँ।” इस सीमित करने वाले विचार को छोड़ दें। याद रखें, अकेले होने का अर्थ है स्वतंत्र होना। अपनी खुशी का सृजन करने के लिए आपको इसी चीज की जरूरत है।
  • “मैं जानता हूँ कि सब कुछ गलत हो जायेगा और मेरे प्रयास असफल हो जायेंगे।” इस विचार को हटायें। आप कोई अलौकिक व्यक्ति नहीं हैं जो जान सकता है कि भविष्य में क्या होगा। ध्यान रखें, विचारों के कारण भावनाएं उत्पन्न होती हैं। एक नकारात्मक विचार की वजह से आपके अंदर भाग्यवादी भावना पैदा हो सकती है। यह आपकी कामयाबी के आड़े आ जाएगा।
  • “कोई भी मुझे सहारा नहीं देता है। प्रयास करने से मुझे कोई लाभ नहीं होगा।” इस प्रकार के विचारों को बढ़ावा न दें। संबल का सबसे बड़ा स्रोत आपके अंदर है। उसके बाद अच्छे मित्र, परिवार के सदस्य और अन्य लोग आते हैं। वे आपके नए जीवन के निर्माण में सहायता करते हैं।

 

जीवन की नयी शुरुआत करके खुशी प्राप्त करें

धीरे-धीरे आपको मालूम होगा कि आपको अपने प्रयासों से फायदा हुआ है। सब कुछ छोड़कर एकदम नया जीवन शुरू करना सहज काम नहीं है। लेकिन याद रखें, आपको पुराने दुःख और दर्द भरे दिनों को पीछे छोड़कर खुश रहने का अधिकार है।

  • Delamothe, Tony. “Happiness” BMJ (Clinical research ed.) vol. 331,7531 (2005): 1489-90.