बच्चों में हाथ और उंगली की चोट

जुलाई 5, 2019
बच्चों को हाथ और उंगली में चोट लगना आम बात होती है। ऐसी स्थिति से कैसे निपटें, इस लेख में जानिये।

जब से हम पैदा होते हैं, अपने परिवेश का पता लगाने के लिए उत्सुक होते हैं। बच्चे चीजों को छूते हैं और उन्हें अपने मुंह में डालते हैं। क्योंकि वे अपनी स्पर्श की संवेदनशीलता के साथ एक्सपेरिमेंट करते हैं। इसी कारण उन्हें हाथ और अंगुली में चोट लगने की संभावना होती है।

शरीर की संवेदनशीलता को ग्राफिकल ढंग से दर्शाने वाली एक किताब है, पेनफील्ड की होमुंकुली (Penfield’s homunculi)। इसके लेखक न्यूरोसर्जन डॉ. पेनफील्ड बीसवीं शताब्दी के मध्य में मस्तिष्क को लेकर अपने काम के लिए प्रसिद्ध हुए थे। यदि आप ड्राइंग को देखें तो पायेंगे कि होंठ और हाथ बड़े हैं क्योंकि उनके पास बहुत अधिक संवेदी न्यूरॉन्स हैं। यह ठीक है कि बच्चों को सब कुछ छूने और अपने मुंह में डालने का खतरा होता है।

इसके अलावा, जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं और चलना शुरू करते हैं, वे संतुलन का अपना सिस्टम विकसित करते हैं। इसलिए जब वे नीचे गिरते हैं, तो वे अपने सिर की हिफाजत करने के लिए हाथों को फर्श पर रखते हैं।

हादसों के कारण बच्चों में हाथ और उंगली में चोट

हाथ और उंगली की चोटें काफी आम हैं।

दुर्भाग्य से घर भी कम खतरों से भरा नहीं होता, जिनसे बच्चों को बचना चाहिए। इलेक्ट्रिकल बर्न और हाथ काटना घर में होने वाली सबसे आम दुर्घटनाएं हैं। इसलिए यह जानना अहम है कि सबसे आम हाथ और उंगली की चोटें क्या हैं और किसी किस्म की जटिलताओं से बचने के लिए उनका इलाज कैसे करें।

इसे भी पढ़ें : स्कूल में बच्चे का पहला दिन : 7 गलतियाँ जो पैरेंट करते हैं

सबसे आम हाथ और उंगली की चोट

जैसा कि हमने बताया है, बच्चों में हाथ और उंगली की चोटें बेहद आम हैं। इस प्रकार की चोटों के कुछ सबसे सामान्य कारण ये हैं:

  • कटने से बने घाव (जिसे हम कट के रूप में जानते हैं): बच्चों की त्वचा बहुत पतली होती है। इसलिए ऐसा तब होता है जब वे किसी डिब्बे का किनारा छूते हैं या फर्श पर छोटे क्रिस्टल से हाथ काट लेते।
  • गुमट (Contusions): ये गिरने से होते हैं। ये आम तौर पर हेमटॉमस (hematomas) और जख्म के निशान से जुड़े होते हैं। यदि गिरावट गंभीर है, तो बच्वेचा अपनी कलाई या उंगली को फ्रैक्चर कर सकता  है।
  • पंचर से बने घाव (Puncture wounds): इनका इलाज सबसे मुश्किल होता है, क्योंकि घाव तब गहरा होता है जब कोई वस्तु त्वचा में घुस जाये। इससे संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है। इस मामले में आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टिशू में बाहरी वस्तु का कोई निशान नहीं है। घाव को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए।
  • घर्षण से बने घाव (Friction wounds): ये खरोंच से बने जख्म हैं जो तब होते हैं जब त्वचा जमीन से रगड़ खाती है। घुटनों में सबसे ज्यादा दर्द होता है। हालांकि ऐसे जख्म हाथों पर भी दिखाई दे सकते हैं (जब बच्चा बाइक से गिरता है या स्कूल कम्पाउंड में गिरता है)।

इसे भी पढ़ें : बच्चों में असंयतमूत्रता : इसका इलाज कैसे करें?

हाथ और उंगली के जख्म का इलाज कैसे करें

घाव की किस्म चाहे जो भी हो, आपको संक्रमण से बचने के लिए निर्देशों की पूरी एक श्रृंखला का पालन करना होगा

  1. सबसे पहले आपको यह निश्चित करना चाहिए कि त्वचा के अंदर बाहरी वस्तु के निशान नहीं हैं। जख्मी हिस्से को साफ करें।
  2. त्वचा छोटी कैपिलरी से भरी होती है। इसलिए भले ही घाव बहुत सतही हो, लेकिन इससे बहुत खून बह सकता है। ठंडा पानी या बर्फ लगाएं (त्वचा के साथ सीधे संपर्क को रोकने के लिए पट्टी का उपयोग करें) जो ब्लड वेसेल्स को सिकोड़ते हैं। इसके अलावा, ठंड सूजन को कम करने में मदद करती है
  3. फिर घाव को कीटाणुरहित करना होगा। इसके लिए कमर्शियल समाधान जैसे पोविडोन-आयोडीन या क्लोरहेक्सिडिन बहुत असरदार होते हैं। ये भी आमतौर पर एक स्प्रे में आते हैं।
  4. यदि चोट बिल्कुल भी ठीक नहीं हुई है या आप गंदे और गहरे जख्म से निपट रहे हैं, तो हम कहेंगे कि बच्चे को पेडियाट्रिक्स के पास ले जाएं और उसके टीकाकरण का रिकॉर्ड देखें। जटिलताओं के जोखिम से बचने और भराई को बढ़ावा देने के लिए टाँके ज़रूरी हो सकते हैं।
  • Salem Z., C., Pérez P., J. A., Henning L., E., Uherek P., F., Schultz O., C., Butte B., J. M., & González F., P. (2000). Heridas: Conceptos generales. Cuadernos de Cirugía. https://doi.org/10.4206/cuad.cir.2000.v14n1-15
  • Ruiz, E. F. (2013). Antisépticos y desinfectantes. Enfermedades Infecciosas y Microbiologia. https://doi.org/10.1007/s00299-010-0857-1
  • Santos Heredero, F. X., Rodríguez Arias, C. A., Barberán López, J., Martín Antona, E., Pérez del Caz, M. D., Torres García, A., … Viadé Juliá, J. (2014). Heridas y Cicatrización. Revista de La Sociedad Española de Heridas.