इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट कितने सुरक्षित हैं

मार्च 29, 2020
इधर कुछ सालों में इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट विवाद का विषय बने हुए हैं। क्या वे सुरक्षित हैं? इस आर्टिकल में ज्यादा जानकारी पायें।

टोबैको प्रोडक्ट से होने वाले नुकसान को कम करने के वैकल्पिक तरीकों को खोजने की दिशा में इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट आये हैं। हालांकि जितने ज्यादा एक्सपर्ट इनकी स्टडी कर रहे हैं, उतने ज्यादा सवाल उठते हैं कि क्या उनके अपने जोखिम हैं। इस तरह ऐसा लगता है कि फायदे की बजाय वे दरअसल नुकसान पहुंचा सकते हैं।

हालांकि कुछ लोग अभी भी उनकी वकालत करते हैं। इसलिए इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के बारे में सही निर्णय लेने के लिए जानकारी पाना एक अच्छा विचार है।

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट: अच्छे हैं या नुकसानदेह?


इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट या ई-सिगरेट के संभावित असर को समझना आसान नहीं है। दरअसल ये कई किस्म की हैं और कई मामलों में वे किस चीज से बनी हैं यह साफ़ नहीं होता है।

वैसे इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट में तंबाकू नहीं होता, पर अमेरिकी फ़ूड एंड ड्रग्स प्रशासन (FDA) उन्हें “तंबाकू” उत्पादों के रूप में क्लासिफाई करता है। इस तरह आप सेहत पर पड़ने वाले उनके असर की कल्पना कर सकते हैं।

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट टोबैको प्रोडक्ट के विकल्प के रूप में पैदा हुए हैं। हालाँकि जहाँ तक तंबाकू छोड़ने की बात है, तो इस मामले में उनकी सुरक्षा या असर का कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है।

इसलिए अर्जेंटीना के ड्रग्स, फूड्स, और मेडिकल डिवाइसेस प्रसाशन (ANMAT) ने भी उनके आयात, वितरण और मार्केटिंग पर बैन लगाने की पुष्टि की है। यह तथ्य अपने आपमें इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट से जुड़ी सुरक्षा चिंताओं का एक और संकेत है।

इसे भी पढ़ें : 4 विटामिन जो स्मोकिंग के बाद आपके फेफड़ों को स्वस्थ करने में आपकी मदद करते हैं

उपलब्ध इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट

उदाहरण के लिए सिगरेट, सिगार, पाइप, पेन या USB फ्लैश ड्राइव जैसे कई आकार और रूपों में इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट उपलब्ध हैं। इन सिगरेटों में एक बैटरी होती है जो डिवाइस को चालू करती है। एक हीटिंग एलिमेंट होता है जो ई-लिक्विड को गर्म करता है और इसे एक एयरोसोल, एक कारतूस या एक टैंक में बदल देता है जिसमें ई-लिक्विड होता है, और एक छिद्र जो एयरोसोल का इस्तेमाल करता है।

नये वर्ब का उदय

“वैपिंग” शब्द एक इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के “एरोसोल” के साँस लेने को दर्शाता है। स्पैनिश सोसाइटी ऑफ पल्मोनोलॉजी एंड थोरैसिक सर्जरी (SEPAR) और नेशनल कमेटी फॉर स्मोकिंग प्रिवेंशन (NPTC) ने वैपिंग से जुसे जोखिम और सुरक्षा चिंताओं के बारे में चेतावनी दी है, यह देखते हुए कि:

“यह स्मोकिंग छोड़ने का कोई तरीका नहीं है; इसका इस्तेमाल सेहत के लिए नुकसानदेह है और स्मोकिंग के लिए एक गेटवे बन सकता है।”

इनके असर को लेकर सचेत रहना ज़रूरी है


इस अर्थ में वैज्ञानिक लिटरेचर से डेटा इकठ्ठा करने के लिए सही स्रोतों का सहारा लेना अहम है। NPTC और SEPAR की स्टडी द्वारा प्रकाशित एक आर्टिकल में लेखकों ने इन मुद्दों और इनकी टोक्सिसिटी, नशीलापन और स्मोकिंग छोड़ने के मामले में इन डिवाइस की उपयोगिता से जुड़े मसलों पर तथ्य किए हैं।

लेखकों ने कहा है:

“इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट की मौजूदगी ने नुकसान में कमी लाने की रणनीति के रूप में उनकी संभावित उपयोगिता के बारे में जबरदस्त उम्मीदें पैदा की हैं, साथ ही युवाओं में निकोटीन की लत लगने के संभावित उकसावे या धूम्रपान छोड़ने में उनके असर के बारे में संदेह पैदा किया है।”

दरअसल अभी भी अलग-अलग राय हैं, और लोग इनके असर के बारे में पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं।

इसे भेई पढ़ें : 7 खाद्य जो आपके शरीर में जमे निकोटिन को बाहर निकाल देंगे

सिफारिशें

मुर्सिया क्षेत्र के जेनेरल डिरेक्टरेट ऑफ़ पब्लिक हेल्थ एंड एडिक्शन से मिली जानकारी के अनुसार,

  • सबसे पहले यह सिफारिश की जाती है कि सभी लोग, विशेष रूप से बच्चे और किशोर, इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के इस्तेमाल से बचें।
  • दूसरे, सार्वजनिक उपयोग के किसी भी स्थान पर निकोटीन के साथ या बिना इन उपकरणों के उपयोग से बचना सबसे अच्छा है।
  • अंत में धूम्रपान छोड़ने के लिए इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के इस्तेमाल की सिफारिश नहीं की जाती है।

हमें उम्मीद है, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा।

  • Agencia Nacional de Medicamentos, Alimentos y Tecnología Médica, ANMAT, Argentina.
  • Comité Nacional para la Prevención del Tabaquismo (CNPT).
  • Sociedad Española de Neumología y Cirugía Torácica, SEPAR.