6 प्रकार के नेगेटिव लोग: इनसे बचें

मई 21, 2018
अक्सर हमें पता नहीं होता है कि हमारे साथ वाले लोग हमें चोट पहुंचा रहे हैं। इसलिए हम उनसे बचने की कोशिश नहीं करते। लेकिन जैसे ही यह बात मालूम हो जाए, आप इन नेगेटिव लोगों से दूरी बनाना शुरू कर दीजिये।

जरूरी नहीं है कि जिन लोगों के साथ हम हर वक्त उठते-बैठते हैं वे सब हमारे लिए उपयोगी हों। कई बार अलग-अलग तरह के नेगेटिव लोग भी हमारे आस-पास मौजूद होते हैं। इसलिए हमेशा सोच-समझकर ही मेल-मिलाप करना चाहिए।

हमारे जीवन से अनेक लोग जुड़े होते हैं जो हमारे विकास में सहयोग देते हैं। वे हमारी कद्र करते हैं। उनका हमारे ऊपर पॉजिटिव असर होता है। कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिनसे हमको दूर रहना चाहिए ताकि हम अपने जीवन में आगे बढ़ सकें और बेहतर जीवन जी सकें।

यहाँ हम कुछ ऐसे ही नेगेटिव लोगों के बारे में चर्चा करेंगे जिनसे आपको दूर रहना चाहिए।

1. आलोचना करने वाले नेगेटिव लोग

लोग आमतौर पर पॉजिटिव या नेगेटिव आलोचना तो करते हैं। लेकिन कुछ ऐसे लोग होते हैं जो हमेशा आपकी गलतियाँ निकालते रहते हैं। वे आपकी हर बात को गलत मानते हैं। आपकी बुराई करते हैं।

इस प्रकार के नेगेटिव लोग अपने जीवन में असफल रहे हैं। वे अपने जीवन से खुश नहीं हैं। इसलिए वे अनजाने में हर समय आपको भी अपने स्तर पर नीचे खींचने की कोशिश करते हैं।

इन नेगेटिव लोगों के कारण आपका आत्म-सम्मान और आत्मविश्वास कम हो जाता है। आप अपने जीवन में आगे नहीं बढ़ पाते हैं। अपने लक्ष्य तक नहीं पहुँच पाते हैं। आलोचना करने वाले लोगों के मन में दया नहीं होती। वे आपकी भावनाओं की परवाह नहीं करते।

2. दूसरों का फायदा उठाने वाले लोग

नेगेटिव लोग

जो लोग दूसरों का फायदा उठाकर अपना काम बनाते हैं उनको पहचानना मुश्किल होता है। वे बहुत चालाक होते हैं। वे कई प्रकार की चालें चलते हैं ताकि आप उनके इरादों के बारे में न जान सकें।

वे आपकी भावनाओं के साथ खेलते हैं। आपको यह महसूस कराते हैं कि आपने कोई गलती की है या आप किसी गलत काम के लिए जिम्मेदार हैं।

अगर आप दयालु और संवेदनशील किस्म के हैं तो नेगेटिव लोगों के लिए यह करना और आसान हो जाता है। वे आपकी कमजोरी का फायदा उठाते हैं।

ऐसे लोग आपको अपने उद्देश्य पूरे करने में इतना व्यस्त रखते हैं कि आप अपने निजी लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर पाते। आपको इस प्रकार के लोगों से जल्दी से जल्दी अलग हो जाना चाहिए या दूर रहना चाहिए।

3. झूठ बोलने वाले नेगेटिव लोग

लोग अक्सर झूठ बोलते हैं। लेकिन जिन लोगों को हम चाहते हैं अगर वे हर समय हमसे झूठ बोलते हैं तो इसका मतलब है कि उनके मन में हमारे लिए इज्ज़त नहीं है।

ऐसे लोग इस बात का अंदाज़ा नहीं लगा पाते हैं कि उनके झूठ बोलने से दूसरों को कितनी तकलीफ हो सकती है। वास्तव में उनको पता भी नहीं चलता है कि वे झूठ बोल रहे हैं।

इन लोगों से अलग होने में संकोच न करें। अगर उनके लिए झूठ बोलना इतना आसान है तो आप कभी भी उनके झूठ के जाल में फंसकर मुसीबत में पड़ सकते हैं।

4. निराशावादी लोग

निराशावादी लोग हर परिस्थिति के नेगेटिव पहलु को देखते हैं। उनके मन में संदेह और डर होता है। ऐसे नेगेटिव लोगों के साथ रहकर आपके मन पर बुरा असर होता है। आपके विचार भी उनकी तरह नेगेटिव हो जाते हैं।

अक्सर ऐसे लोगों के कारण कठिन परिस्थितियां उत्पन्न हो जाती हैं। आप चाहें उनको जितना भी समझायें वे हमेशा कोई न कोई खराबी ढूंढ लेते हैं।

ऐसे लोगों से दूर रहें क्योंकि उनके साथ रहकर आप परेशान हो जायेंगे।

5. कंजूस लोग

नेगेटिव लोग: इनसे बचें

कंजूसी करने की आदत बहुत ख़राब होती है। कंजूस लोग कुछ नहीं देना चाहते हैं। इसलिए वे हमेशा कोई न कोई बहाना ढूंढ लेते हैं।

वे सिर्फ आर्थिक या भौतिक चीजों के मामले में ऐसा नहीं करते हैं। दरसल वे किसी भी तरह से कोई सहायता नहीं करना चाहते हैं। वे स्वार्थी नहीं होते हैं पर कभी-कभी उनकी कंजूसी की आदत को लोग गलती से स्वार्थ समझते हैं।

इस प्रकार के लोगों को हमेशा दूसरों की सहायता की जरूरत होती है। वे हर परिस्थिति में अपना फायदा देखते हैं।

ये वे दोस्त हैं जो आपके साथ बाहर घूमने जाते हैं और जब पैसे देने का समय आता है तो खिसक जाते हैं।

6. पीठ पीछे बात करने वाले लोग

जो लोग पीठ पीछे दूसरों के बारे में बातें करते हैं वे वास्तव में अपने को असुरक्षित महसूस करते हैं। वे बिना सोचे समझे जो दिल में आता है वह बोलते हैं। इसलिए वे लोगों को चोट पहुंचा सकते है।

ऐसे नेगेटिव लोगों से दूर रहना अच्छा है। अगर आप इनके साथ रहते हैं तो दूसरे लोग आपको भी पीठ पीछे बात करने वाला समझ सकते हैं। आप किसी परेशानी में पड़ सकते हैं या बिना वजह लोग आपके दुश्मन बन सकते हैं।

दूसरी बात यह है कि यदि आप गप्पें करने वाले लोगों के साथ समय नहीं बितायेंगे तो हो सकता है कि वे आपके बारे में बात न करें।

नेगेटिव लोगों से बचकर रहें

अगर आप सावधानी से काम नहीं करेंगे तो इन छह प्रकार के लोगों के अलावा और भी तरह के नेगेटिव लोग आपको चोट पहुंचा सकते हैं। हमने इन लोगों के बारे में ही बात की क्योंकि ये आपको ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। आपको इनसे दूर रहना चाहिए।

आपके खुद के व्यवहार में ऊपर बताया गया कोई नेगेटिव लक्षण है तो अपनी गलती को सुधार लें। कहीं आगे चलकर अच्छे लोग आपका साथ न छोड़ दें।

Krista van Vleet. (2003). Partial Theories: On Gossip, Envy and Ethnography in the Andes. Ethnography 2003 4: 491. https://doi.org/10.1177/146613810344001

Fallis, D. (2010). Lying and Deception. Philosopher’s Imprint. https://doi.org/10.1093/acprof:oso/9780199577415.001.0001

Beck, A. T., Weissman, A., Lester, D., & Trexler, L. (1974). The measurement of pessimism: The Hopelessness Scale. Journal of Consulting and Clinical Psychology. https://doi.org/10.1037/h0037562