अपने बच्चे को हग करने के लिए कैसे प्रोत्साहित करें

18 फ़रवरी, 2019
कई बार किसी को हग करना शब्दों से ज्यादा कुछ अभिव्यक्त कर सकता है। इसलिए किसी को हग करने या गले लगने से न डरें।

जितनी बार आप चाहते हैं वे उतनी बार इसे नहीं दे सकते। लेकिन जब आपका बच्चा आपको हग करता है तो पूरी दुनिया रुक सी जाती है। उसके हग करने से आप आश्चर्यचकित हो जाती हैं और अचानक सब कुछ समझ में आ जाता है।

यह वह जगह है जहां सच्ची खुशी है।

जब आपका बच्चा आपके चारों ओर अपनी बाहों को लपेटता है और शब्दों का उपयोग किये बिना कहता है, “मैं आपसे प्यार करता हूँ, आप मेरे लिए अहम हैं।”

हमें यकीन है, एक माता-पिता, दादा-दादी या यहां तक ​​कि एक शिक्षक के रूप में आपने एक से ज्यादा मौकों पर इन अद्भुत क्षणों का अनुभव किया है।

क्योंकि यह ऐसा कुछ है जिसे आपको पाना बहुत अच्छा लगता है। यह जानने में कोई बुराई नहीं कि इस हाव-भाव को और ज्यादा कैसे प्रोत्साहित किया जाए।

हम आपको कुछ क्विक टिप्स देंगे।

बच्चों का हग करना इमोशनल हेल्थ की कुंजी है

हमने पहले हग करने के लाभों के बारे में बात की है – वह कैसे डर को दूर कर सकता है, स्ट्रेस से लड़ सकता है और जिन लोगों को आप प्यार करते हैं उनके साथ बंधन को मजबूत कर सकता है।

हमें अपने बच्चों के साथ इन हाव-भावों को शुरू करने की आदत है लेकिन … हम उन्हें नियमित आधार पर इस एहसान को वापस करने के लिए कैसे प्रोत्साहित कर सकते हैं?

इन पहलुओं पर ध्यान दें।

इसे भी पढ़ें: नाती-पोते हमें ये 4 अद्भुत बातें सिखाते हैं

बच्चों को ऐसा कुछ करने के लिए मजबूर न करें जो वे नहीं करना चाहते

जब हम इमोशनल और दिल को छूने वाले हाव-भाव के बारे में बात करते हैं तो आप उन्हें बाध्यता या कर्तव्य नहीं बना सकते हैं।

कुछ परिवारों में बहुत ही आम एक व्यवहार को देखा गया है। वहाँ बच्चों को हग करने या लोगों को चूमने के लिए मजबूर किया जाता है जब वे उनसे मिलने आते हैं या कहीं सड़क पर अचानक मिल जाते हैं।

  • अगर किसी बच्चे में ज्यादा आत्मविश्वास नहीं है तो वह इस हाव-भाव को एक परेशान करने वाली या असहज चीज के रूप में देख सकता है। उन्हें कोई भी ऐसी चीज करने के लिए मजबूर करना, जो वे नहीं चाहते हैं, कभी भी अच्छा विचार नहीं होता।
  • ध्यान रखें, हग करने का मतलब सिर्फ यभी होता है जब यह उन लोगों से आता है जो हमारे लिए मायने रखते हैं।

ऐसा कोई कारण नहीं है जिससे एक अजनबी को आपके बच्चे को छूना चाहिए। यदि वह परिवार का सदस्य या करीबी दोस्त है तो यह आपके बच्चे का फैसला होना चाहिए कि उसको हग करके अभिवादन करना है या नहीं।

यह रोज़ाना के मॉडल के रूप में कार्य करता है

एक स्वस्थ, खुश परिवार में, हग करना एक सामान्य हाव-भाव है जो रोज के रूटीन का हिस्सा होता है।

आप थैंक यू कहने, कृतज्ञता दिखाने के लिए हग करते हैं या जब आप बीमार होते हैं या डरते हैं, या बस उस समय करते हैं जब आपका दिल चाहता है।

  • आप एक बच्चे से कोई ऐसी चीज नहीं करवा सकते हैं जिसे वह अपने चारों ओर होते हुए नहीं देखता है।
  • नियमित रूप से परिवार के सदस्यों के बीच पॉजिटिव, सार्थक हाव-भाव दिखाई देने चाहिए। यदि ऐसा नहीं होगा तो बच्चे को यह करते समय अजीब और असहज महसूस होगा।

इसे भी पढ़ें: विज्ञान के अनुसार हमें बुद्धि अपनी माँ से मिलती है

आलोचना या दंड के बिना उनकी पर्सनालिटी का सम्मान करें

कभी-कभी माता-पिता किसी अन्य बच्चे के व्यवहार की आलोचना कर सकते हैं या “नेगेटिव तरीके से बोल सकते हैं”।

“वह इतना डरपोक है”, “वह इतना बेपरवाह है,” या “कितने दुःख की बात है कि वे इतने भावहीन तरीके से जवाब देते हैं।”

  • अंत में, यह एक अपने आप ही पूरी होने वाली भविष्यवाणी का कारण बन सकता है। यानी बच्चे से जो उम्मीद की जाती है वह अंत में वही करने लगता है। जब वह निकटता या स्नेह का भाव दर्शाना चाहता है तो यह अक्सर उसे शर्मिंदा या असहज महसूस करवा सकता है।
  • आपको कभी किसी बच्चे को लेबल नहीं करना चाहिए, उनके व्यवहार को ऐसे ट्रीट नहीं करना चाहिए जैसे कि वह स्थायी हो। हालांकि यह सच है, कुछ लोग दूसरों की तुलना में ज्यादा रिज़र्व होते हैं, हर कोई इन व्यवहारों की सराहना करता है।

कुछ ऐसे समय होते हैं जब हग करने के अलावा और कोई उत्तर नहीं होता है

एक और तरीका जिससे बच्चे हग करने की अहमियत को समझ सकते हैं वह है, उसे एक ऐसी चीज के रूप में देखना जो साइकोलॉजिकल राहत देती है, जो उन्हें शांत करती हैं और जिसे शब्दों की जरूरत नहीं होती है, केवल क्रिया होती है।

  • एंग्जायटी का ऊँचा लेवल होने या बहुत ज्यादा डर और असुरक्षित महसूस करने पर हग करना बेहद चिकित्सीय हो सकता है।
  • “चिंता मत करो मेरी बेटी, सब कुछ ठीक हो जाएगा” और “मैं हमेशा तुम्हारी बगल में रहूंगा”, ऐसी बातें कहने के बजाय कभी-कभी एक हग देना काफी होता है। यह उन्हें सुरक्षा और आश्वासन का एहसास देता है।
  • जब आपका छोटा बच्चा शुरू में ही सीखता है कि हग करना एक ऐसी चीज है जिसे जब वह “अभिभूत” महसूस करता है तब कर सकता है तो ऐसे समय में उसे आपको जल्द से जल्द ढूंढने की ज्यादा संभावना होगी।
  • हमें यकीन है, आप जानते हैं कि “मैं तुमसे प्यार करता हूं” कहना कुछ बच्चों के लिए मुश्किल हो सकता है। लेकिन इस बात से अवगत रहें कि कई बच्चों के लिए एक त्वरित और अप्रत्याशित आलिंगन की भी “मैं तुमसे प्यार करता हूँ” कहने के बराबर अहमियत हो सकती है।

गले लगाना ऐसा व्यवहार है जो एक ही समय में दिल को छूने और घाव भरने का काम करता है।