जुओं से छुटकारा पाने के 6 घरेलू उपाय

जुलाई 13, 2018
पेडिकुलोसिस बाहरी पर्जीवीयों के संक्रमण से होने वाली एक संक्रामक बीमारी है। यह जुओं के आक्रमण से होती है जो इंसानी खोपड़ी की त्वचा पर रहते हैं। वैसे, इनकी वजह से स्वास्थ्य सम्बंधी खतरा नहीं है, लेकिन इसे होने से रोकना ज़रूरी है।

जुओं से छुटकारा पाने के उपायों पर बात करने से पहले ज़रा इस परजीवी के बारे में जान लें। जूएँ 2 और 3 मिलीमीटर के बीच लंबी छोटी परजीवी होती हैं। जुओं के रंग में भिन्नता हो सकती है। लेकिन आमतौर पर ये धूसर रंग की या पारदर्शी होती हैं। वे अपने होस्ट के रक्त का थोड़ी-थोड़ी मात्रा में सेवन करती हैं। इसलिए अगर आपके सिर में जूएँ पड़ जाती हैं तो आपको उनसे हमेशा के लिए छुटकारा पाने के कई उपचार मालूम होने चाहिए।

आमतौर पर, वे मनुष्य के सिर की त्वचा, बालों में, कानों के पीछे, भौहों और यहां तक ​​कि पलकों में भी रहती हैं।

वे सीधे संपर्क से और कभी-कभी हैट, टोपी या बालों के ब्रश जैसी व्यक्तिगत वस्तुओं को शेयर करने से फैलती हैं।

हालांकि जूएँ 28 दिनों के करीब जीवित रहती हैं, वे प्रतिदिन 10 अंडे देती हैं और उनकी संख्या बहुत जल्दी बढ़ सकती है।

अंडे या लीखें 12 से 14 दिनों के बीच वयस्कता तक पहुंचती हैं। यदि जुओं का जल्दी से इलाज नहीं किया जाता है, तो उनकी संख्या बहुत ज्यादा बढ़ सकती है क्योंकि उनका जीवन-चक्र हर तीन सप्ताह में दोहराता है।

इसके क्या लक्षण हैं?

  • बालों में “गुदगुदी” होना या किसी चीज के रेंगने का आभास होना
  • खुजली करने या खरोंचने की तीव्र इच्छा होना
  • सोने में कठिनाई
  • चिड़चिड़ापन
  • निरंतर खरोंचने के कारण एक्जिमा या त्वचा पर घाव

क्या जूएँ खतरनाक हैं?

जुओं से छुटकारा

अभी तक जुओं के माध्यम से संक्रमित बीमारियों के मामले ज्ञात नहीं हैं इसलिए उन्हें सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए खतरा नहीं माना जाता है।

हालांकि प्रभावित क्षेत्र में खरोंचने की वजह से त्वचा में संक्रमण हो सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि जूएँ 30 दिनों तक जीवित रह सकती है, और उस समय के दौरान प्रत्येक मादा लगभग 200 अंडे देने में सक्षम है?

अगर सिर में जूएँ हों तो मुझे क्या करना चाहिए?

यह कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं है। फिर भी जुओं से छुटकारे के लिए ट्रीटमेंट की ज़रूरत होती है जिसमें प्रभावित व्यक्ति के परिवार के सदस्यों और उसके निकट संपर्क में आने वाले लोगों को शामिल करना चाहिए और उपचार दोहराया जाना चाहिए।

दुर्भाग्यवश, आज बाजार में कोई भी अनुमोदित दवा नहीं है जो पूरी तरह से लीखों और जुओं से छुटकारा दिलाती हो।

वास्तव में, हम वैकल्पिक उपचार के साथ ही दवा का उपयोग करने की सलाह देते हैं।

इसलिए हम ‘स्वास्थ्य की ओर’ पर आपके साथ सिर की जुओं के मामलों में उपयोग करने के लिए कुछ सबसे प्रभावी प्रक्रियाओं और घरेलू उपचारों को शेयर करना चाहते हैं।

1. जुओं से छुटकारा पाने के लिए यूकेलिप्टस ऑइल

जुओं से छुटकारा पाने के लिए यूकेलिप्टस ऑइल

यूकेलिप्टस ऑस्ट्रेलिया का मूल पेड़ है जो अब पूरी दुनिया में उगाया जाता है। इसकी पत्तियों की कटाई की जाती है और डिस्टिलेशन की प्रक्रिया के माध्यम से तेल का उत्पादन होता है। दरअसल इस तेल के कई उपयोग हैं।

  • उनमें से एक है यूकेलिप्टस के तेल का घावों के लिए एंटीसेप्टिक और टिश्यू को सिकोड़ने वाले एजेंट (एस्ट्रिंजेंट) के रूप में उपयोग। इस वजह से इसे इस्तेमाल करके त्वचा पर जुओं के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:

8 प्राकृतिक उपचार मौसमी एलर्जी के लिए

2. जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल)

वनस्पति उत्पत्ति का यह तेल, जिसमें मानव शरीर के लिए कई लाभ हैं जुओं का इलाज करते समय सहायक के रूप में कार्य कर सकता है।

  • इस मामले में, इसका गाढ़ापन इसकी सर्वोत्तम गुणवत्ता है, क्योंकि यह जुओं को ऑक्सीजन से वंचित कर देता है। जब जूएँ तेल से ढकी होती हैं, वे सांस नहीं ले पाती हैं और घुटन से मर जाती हैं। इसलिए आप जैतून का तेल इस्तेमाल करके सफलतापूर्वक जुओं से छुटकारा पा सकते हैं।

3. सफेद सिरका

जुओं से छुटकारा पाने के लिए सफ़ेद सिरका

यह सिरका बैक्टीरिया के माध्यम से ऐलकोहल के एसीटिक फर्मेंटेशन से उत्पन्न होता है।

इसके घटकों में एसिटिक एसिड होता है। यह जुओं के एक्सोस्केलेटन में चिटिन, जिसकी सहायता से वे बालों में लगी रहती हैं, को भंग करने में मदद करता है।

सिरके और जैतून के तेल का उपचार करने के लिए आप उपरोक्त दो उपचारों को जोड़ सकते हैं।

घटक

  • 2 प्याले सफेद सिरका (500 मिली.)
  • 2 प्याले जैतून का तेल (500 मिली.)

सामग्री

  • प्लास्टिक रैप
  • धातु की जुओं की कंघी

दिशा-निर्देश

  • सिरके को इतने तापमान तक गर्म करें जितना कि संक्रमित व्यक्ति जले बिना सहन कर सके।
  • सिर को गीला करने के बाद, बालों को गर्म सिरके में भिगोएं और कुछ मिनट तक मालिश करें, जब तक कि अधिकांश बाल तेल से ढक न जायें।
  • बालों को ऊपर उठाकर जूड़ा या पोनीटेल बनायें और इसे प्लास्टिक रैप में जितना ज्यादा संभव हो उतना कसकर लपेटें ताकि सिरके की गंध और गुण जुओं के विरुद्ध काम कर सकें। प्लास्टिक रैप को 1 घंटे के लिए नहीं हटाना चाहिए।
  • एक घंटा बीत जाने के बाद, प्लास्टिक रैप हटा दें और बालों को गर्म पानी से धोएं।
  • जैतून के तेल को उतने तापमान तक गर्म करें जितना त्वचा को नहीं जलाएगा, और बालों को उससे ढकें।
  • एक बार फिर, अपने बालों को ऊपर उठायें और प्लास्टिक रैप में लपेटें, और इसे 1 और घंटे के लिए छोड़ दें।
  • उसके बाद, प्लास्टिक रैप को हटा दें। फिर, धातु की जुओं की कंघी का उपयोग करके जुओं और लीखों को बालों के एक-एक हिस्से से ध्यान से और पूरी तरह से हटायें।
  • जब आपको लगे कि आपने सफलतापूर्वक सारी जुओं को हटा दिया है, तो अपने बालों को सामान्य रूप से अपनी पसंद के शैम्पू के साथ जितनी बार आप जरुरत समझें उतनी बार धोएं।

नोट: कुछ लोग केवल सिरके के साथ यह प्रक्रिया करते हैं।

4. जुओं से छुटकारा पाने में असरदार टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल जुओं से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छे पदार्थों में से एक माना जाता है।

यह तेल मेलालियुका अल्टरनीफोलिया पेड़ से प्राप्त होता है जिसकी उत्पत्ति ऑस्ट्रेलिया में हुई है। प्राचीन काल से इस तेल का उपयोग त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है।

इसमें एंटीवायरल, जीवाणुरोधी, एंटीफंगल, और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जब जुओं के उपद्रव को रोकने की बात आती है तो ये सभी खूबियां बहुत उपयोगी होती सिद्ध हैं।

5. अजवायन (Parsley)

जुओं से छुटकारा पाने के लिए अजवायन

यह आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला पौधा मूल रूप से भूमध्य सागर के छोटे द्वीपों का है। इसमें कई औषधीय गुण होते हैं।

इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन को धन्यवाद, अजमोद उपचार को बढ़ावा देता है और त्वचा की प्राकृतिक घाव को स्वस्थ करने की प्रक्रिया को तेज करता है।

अजमोद कुछ आवश्यक तेल प्रदान करता है जिनमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो त्वचा के संक्रमण को ठीक करने और त्वचा की जलन को कम करने में मदद करता है।

इसी प्रकार, यह जुओं के उपद्रव से छुटकारा पाने में मदद करता है, उनके काटने की वजह से होने वाली जलन को कम करता है और सिर की त्वचा के पीएच को नियंत्रित करता है।

6. लैवेंडर ऑयल

लैवेंडर एक औषधीय पौधा है जिसके विभिन्न प्रकार के उपयोग हैं। आवश्यक तेल के रूप में, इसका उपयोग एनाल्जेसिक, सेलुलर रीजेनरेटर और शामक के रूप में किया जाता है।

लेकिन जुओं के विरुद्ध काम करने वाला गंधक गुण इसका मुख्य हथियार है जो एक प्रतिरोधी के रूप में कार्य करता है।

  • सिर की त्वचा पर लैवेंडर तेल लगाने से भावी जुओं के आक्रमणों के विरुद्ध एक प्रकार की ढाल का निर्माण होगा।

अन्य विधियां

महीन दांतों वाली कंघी

जुओं से छुटकारा पाने के लिए कंघी

महीन दांतों वाली कंघी जिसे जुओं की कंघी के रूप में जाना जाता है, एक आसानी से उपयोग किया जाने वाला उपकरण है जिसे जुओं और लीखों को अपने दांतों के बीच में पकड़ने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

इस कंघी को गीले बालों पर इस्तेमाल किया जाता है।

  • बालों के कंडीशनर और ऐलकोहल के साथ में कंघी करने का काम ज्यादा असरदार होता है क्योंकि वे कंघी को आसानी से बालों में से फिसलने देते हैं जिससे बालों को कम नुकसान होता है।

कोई सीधा संपर्क नहीं

सैंडपिट्स या स्विमिंग पूल्स जैसी जगहों पर जहाँ सामाजिक संपर्क की आवश्यकता होती है में सिर से सिर के संपर्क से बचें।

कपड़े

जुओं से छुटकारा पाने के कपड़े

हमारी राय है कि इलाज से कुछ दिन पहले संक्रमित व्यक्ति ने जो कपड़े पहने हैं उनको गर्म पानी से धोएं। फिर उन्हें सबसे गर्म सेटिंग पर सुखाएं या उन्हें इस्त्री करें।

जूएँ और लीखें 128 डिग्री फारेनहाइट से अधिक तापमान में जीवित नहीं रह सकती हैं।

अगर कपड़ों को ड्राई क्लीन करना जरुरी है तो उन्हें सफाई करने वाली उचित जगह पर ले जाएं या प्लास्टिक बैग में दो सप्ताह तक स्टोर करें ताकि जूएँ न फैलें।

व्यक्तिगत वस्तुएं

आपको कोशिश करके इन चीजों को शेयर नहीं करना चाहिए –

  • स्टफ्ड खिलौने
  • हैट्स
  • तौलिए
  • व्यक्तिगत बालों की देखभाल करने के उत्पाद

स्वच्छ फर्नीचर और फर्श

जुओं से छुटकारा पाने के उपाय

संक्रमित व्यक्ति के गिरे हुए बालों को घर में इधर-उधर न पड़ा रहने दें क्योंकि उनमें संभवतः लीखें हो सकती हैं।

ऐसे फर्नीचर पर न लेटें जिसे संक्रमित व्यक्ति ने हाल ही में छुआ हो सकता है।

सिर की जूएँ मानव संपर्क के बिना 1 या 2 दिनों तक जीवित रहती है।

दूसरी तरफ, लीखें मानव शरीर के तापमान के बिना अंडे से नहीं निकल सकती हैं, लेकिन उनके मरने के लिए पूरे एक सप्ताह की जरुरत होती है। यह अलग बात है कि उन्हें समान तापमान वाला कोई और स्थान मिल जाये।

नोट: एयरोसोल से सुवासित न करें क्योंकि वह  जहरीला हो सकता है।

जैसा कि आप देख सकते हैं, पेडिकुलोसिस से छुटकारा पाने के उपचार के लिए समय और छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। लेकिन ये विकल्प व्यावहारिक और प्राकृतिक हैं।

हमें आशा है कि ये सिफारिशें आपके लिए उपयोगी होंगी।

  • Gairí, J. M., et al. “Pediculosis de la cabeza.” Protocolos diagnósticos y terapéuticos en dermatología pediátrica 1 (2002): 75-86.
  • López Sánchez, Sebastián. “Guía práctica para el control de piojos.” (2008).
  • Ramírez, M. Soledad, y Marisa Torres. “Pediculus capitis: terapias disponibles.” Revista chilena de infectología20.2 (2003): 111-116.