गर्भावस्था

मेरे शरीर में हर तिमाही में क्या हो रहा है? गर्भावस्था में मुझे क्या खाना चाहिए? कौनसा व्यायाम सबसे अच्छा है? इस समय मैं अपने बच्चे के साथ कैसे जुड़ सकता हूँ? स्टेप टू हेल्थ के इस खंड में हम इन और अन्य गर्भावस्था के सवालों का जवाब देंगे।

प्रीइमप्लांटेशन जेनेटिक डायग्नोसिस

प्रीइमप्लांटेशन जेनेटिक डायग्नोसिस (PGD) एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे एसिस्टेड रिप्रोडक्शन से पहले की जाती है। इसे आर्टिफीसियल फर्टिलाइजेशन भी कहा जाता है। इसे तब किया जाता है जब एक महिला प्राकृतिक तरीकों से गर्भवती नहीं हो पाती है। इस…

लेबर इन्डकशन क्या है और इसे कैसे किया जाता है?

कुछ खास मामलों में डॉक्टर लेबर इन्डकशन की सलाह दे सकते हैं, जिसका अर्थ है कि प्रसव को ट्रिगर करने वाले कॉन्ट्रैक्शन को कृत्रिम रूप से शुरू किया जाना। लेबर इन्डकशन तब होता है जब डिलीवरी की शुरुआत करने के…

गर्भावस्था की जटिल स्थिति प्री-एक्लेमप्सिया के बारे में सबकुछ जानें

प्री-एक्लेमप्सिया गर्भावस्था की जटिलता है जो दूसरी बातों के अलावा हाई ब्लडप्रेशर या किडनी डैमेज के कारण हो सकती है। यह गर्भवती महिलाओं की 5-8% आबादी को प्रभावित करता है और माँ और बच्चे दोनों के लिए जानलेवा हो सकता…

गर्भावस्था में हाई ब्लड प्रेशर : लक्षण और इलाज

गर्भावस्था में हाई ब्लड प्रेशर की डायग्नोसिस तब की जाती है जब यह 140/90 mmHg से ज्यादा हो जाए। पर क्या आप जानते हैं, वास्तव में ब्लड प्रेशर क्या है?  ब्लड प्रेशर यानी रक्तचाप धमनियों (आर्टरी) की दीवारों पर पड़ने…

बच्चे जो अपने माता-पिता के साथ एक ही बिस्तर में सोते हैं

कई बच्चे अपने माता-पिता के साथ एक ही बिस्तर पर सोना चाहते हैं। यह बहुत ही आम बात है और इसके अपने फायदे और नुकसान दोनों हैं। उनके ऐसा करने के कुछ कारण हैं क्योंकि वे अंधेरे से डरते हैं,…

सीजेरियन सेक्शन के पहले और बाद में की जाने वाली देखभाल

सीजेरियन सेक्शन एक तरह की सर्जरी होती है। इस सर्जरी के दौरान गर्भवती महिला के पेट में चीरा लगाकर शिशु को बाहर निकाला जाता है। वर्तमान में विशेषज्ञों का मानना है कि योनि के रास्ते किए जाने वाले प्रसव के…

अपने बच्चे को प्यार से सिखायें, डर और पाबंदियों के जरिये नहीं

प्यार से सिखाना ज़िन्दगी में बहुत सी चीजों का बुनियादी आधार है। कई लोगों की सोच से अलग एक सख्त परवरिश बच्चों को ठीक तरह से बड़ा करने में सफलता की गारंटी नहीं देती है। इसलिए अपने बच्चों को प्यार…

प्यार से बच्चों की परवरिश उनके डर को दूर भगाती है

प्यार वह इंजन है जो माता-पिता और उनके बच्चों के बीच के बंधन को ईंधन देता है। बच्चों की परवरिश में इसका बहुत बड़ा स्थान है। दुनिया में आने वाले प्रत्येक बच्चे को भोजन, घर और सुरक्षा के अलावा भी आवश्यकताएं…

35 की उम्र के बाद माँ बनने के 6 फायदे

35 की उम्र के बाद माँ बनना आसान नहीं होता है। समय के साथ, समाज ने बड़ी उम्र में बनी माँ को “कम जोशीली माँ” या “थकी हुई माँ” जैसे मखौल उड़ाने की प्रथा को स्थान दिया है। केवल कुछ…